ब्रेकिंग न्यूज़
उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने इंदिरा आईवीएफ, पटना के चिकत्सक डॉ.दयानिधि को किया सम्मानितप्रधानमंत्री ने संसद के दोनों सदनों को राष्ट्रपति जी के संबोधन पर प्रकाश डालापर्यटन मंत्री जी किशन रेड्डी ने विजिट इंडिया ईयर-2023 की शुरूआत की26 जनवरी को लेकर रक्सौल में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा एजेंसी मुस्तैदमोतिहारी पुलिस ने 26 स्मार्टफोन के साथ मोबाइल चारी के इंटरनैशनल गिरोह के तीन नेपाली सहित 6 गुर्गों को दबोचामोतिहारी के तीन थाना क्षेत्रों में लूट के चार आरोपितों को चोरी की दो बाइक्स के साथ गिरफ्तार किया गयामोतिहारी के वार्ड 35 के नवनिर्वाचित पार्षद अविनाश झा की सड़क दुर्घटना में मौत की सूचना उप मेयर डॉ लालबाबू ने दीमोतिहारी में बाजार समिति के पास अभिभावक के साथ तीन छात्र सड़क दुर्घटना के शिकार, एक बच्ची की मौत, एक बाइक पर सवार थे चार
मुजफ्फरपुर
स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही को देखते हुए मुख्यमंत्री सचिवालय हुआ सजग
By Deshwani | Publish Date: 24/7/2017 9:11:49 AM
स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही को देखते हुए मुख्यमंत्री सचिवालय हुआ सजग

मुजफ्फरपुर (हि.स.)। मुजफ्फरपुर जिले में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही व मरीजों के बेहतर इलाज में कमी को देखते हुए मुख्यमंत्री सचिवालय सजग हो गया है। छोटी-छोटी शिकायतों को लेकर भी सीधे जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के आलाधिकारियों को तलब किया जा रहा है। 

इसी क्रम में जिले के मीनापुर के गणेश राम ने सीएम से 12 जून को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज नहीं किये जाने की लिखित शिकायत की। उसे दस्त की समस्या थी। उसने आरोप लगाया है कि जब वह प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गया तो वहां डॉक्टरों ने कोई संज्ञान नहीं लिया। इलाज करने को कहा तो भगा दिया। इस मामले पर सीएम सचिवालय ने जिला प्रशासन को तलब किया है। जिलाधिकारी धर्मेन्द्र सिंह ने वरीय उपसमाहर्ता को मामले की जांच करने को कहा है। वरीय समाहर्ता ने सिविल सर्जन से जानकारी मांगी है।

एक दुसरे मामले में लगातार सीएम सचिवालय से आ रहे इस तरह के निर्देशों के बावजूद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कांटी से जानकारी नहीं मिलने पर सिविल सर्जन डॉ. ललिता सिंह ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी को तलब किया है। गौरतलब है कि कांटी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में मरीजों की संख्या व इलाज की व्यवस्था की जानकारी लेने के लिए मुख्यमंत्री सचिवालय ने फोन किया था, लेकिन किसी ने फोन नहीं रिसीव किया। 

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के हेल्थ प्रबंधक व पीएचसी प्रभारी का मोबाइल नंबर भी गलत मिला था। इस पर मुख्यमंत्री सचिवालय ने जबाब तलब किया था। इसको लेकर अब सिविल सर्जन ने कार्रवाई शुरू की है।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS