ब्रेकिंग न्यूज़
अत्याधुनिक हथियार बरामदगी मामले में कोटवा निवासी कुख्यात कुणाल को आजीवन कारावास, 42 हजार रुपये का अर्थदंड भी मिलाइस बार का चुनाव मेरे लिए चुनाव है चुनौती नहीं: राधा मोहन सिंहMotihati: सांसद राधामोहन सिंह ने नामांकन दाखिल किया, कहा-मैं तो मोदी के मंदिर का पुजारीमोतिहारी के केसरिया से दो गिरफ्तार, लोकलमेड कट्टा व कारतूस जब्तभारतीय तट रक्षक जहाज समुद्र पहरेदार ब्रुनेई के मुआरा बंदरगाह पर पहुंचामोतिहारी निवासी तीन लाख के इनामी राहुल को दिल्ली स्पेशल ब्रांच की पुलिस ने मुठभेड़ करके दबोचापूर्व केन्द्रीय कृषि कल्याणमंत्री राधामोहन सिंह का बीजेपी से पूर्वी चम्पारण से टिकट कंफर्मपूर्व केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री सांसद राधामोहन सिंह विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे
बिहार
पत्रकार राजदेव रंजन कांड :मो. शहाबुद्दीन की मुश्किलें बढ़ीं
By Deshwani | Publish Date: 19/6/2017 6:42:46 PM
पत्रकार राजदेव रंजन कांड :मो. शहाबुद्दीन की मुश्किलें बढ़ीं

मुजफ्फरपुर, (हि.स.)। पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड मामले में पूर्व राजद सांसद मो. शहाबुद्दीन की मुश्किलें अब और बढ़ने वाली हैं। दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद शहाबुद्दीन की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में पेशी हुई। सुनवाई के दौरान सीबीआई की विशेष कोर्ट ने शहाबुद्दीन के नार्को और ब्रेन मैपिंग टेस्ट को लेकर सवाल-जवाब किया। कोर्ट ने नार्को और ब्रेन मैपिंग टेस्ट कराने को लेकर 4 जुलाई तक जवाब मांगा है।

बता दें कि इससे पहले सीबीआई ने शहाबुद्दीन पर गंभीर आरोप लगाते हुए कोर्ट में दलील दी थी कि वे जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं। सीबीआई ने कहा था कि पूर्व सांसद द्वारा सही तरह से सवालों का जवाब नहीं दिया जा रहा है। इसलिए आरोपी का नार्को टेस्ट और ब्रेन मैपिंग कराना जरूरी है।
उल्लेखनीय है कि नार्को टेस्ट और ब्रेन मैपिंग कराने की बात को शहाबुद्दिन ने पहले ही नकार दिया था। इसी माह के 15 तारीख को पेशी के दौरान उन्होंने सीबीआई की अर्जी व टेस्ट कराए जाने की मंशा पर सवाल उठाते हुए विरोध किया था। 
उन्होंने आरोप लगाया था कि सीबीआई उन्हें फंसाने के लिए इस टेस्ट को आधार बनाना चाह रही है। उधर, इस मामले में न्यायिक हिरासत में जेल में बंद लड्डन मियां सहित छह आरोपितों की कोर्ट में पेशी हुई थी| गौरतलब है कि जब तक शहाबुद्दीन की सहमति इन टेस्ट के लिए नहीं होगी तब तक सीबीआई जांच नहीं करा सकती है| विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक राजदेव हत्याकांड में जेल से जमानत पर रिहा हुए मो. जावेद और मो. कैफ को सरकारी गवाह बनाने की तैयारी में सीबीआई है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS