जरूर पढ़े
हर देशों में एक नहीं बल्कि अलग-अलग दिन मनाया जाता है मदर्स डे
By Deshwani | Publish Date: 11/5/2018 6:57:28 PM
हर देशों में एक नहीं बल्कि अलग-अलग दिन मनाया जाता है मदर्स डे

 हर साल मई महीने के दूसरे रविवार को मदर्स डे मनाया जाता है। दुनिया भर के लोग इस दिन अपनी मां के लिए कई तरह के सरप्राइज प्लान करते हैं। इस दिन बच्चे अपनू मां को हर तरह की खुशियां देना चाहते हैं। कोई अपनी मां के साथ फिल्म देखने तो कोई घूमने के लिए जाता है। वहीं, छोटे बच्चों की बात करें तो वे भी अपने हाथ से कोई न कोई पेंटिग बना कर मां को देते है। जिससे उनकी खुशी की कोई ठिकाना नहीं रहता। ऐसा माना जाता है कि इस दिन की शुरुआत सबसे पहले वेस्ट वर्जिनिया से हुई थी। एना जार्विस ने हर मां को सम्मान देने के लिए इस दिन की शुरुआत की थी। इस बार मदर्स डे 13 मई को मनाया जा रहा है। दुनिया के हर हिस्से में अलग-अलग तरीके से इस दिन को सैलिब्रेट किया जाता है। 

 
यूरोप में लोग अपनी मां को सम्मान देने के लिए इस दिन को बहुत पुराने समय से मनाते आ रहे हैं। ब्रिटेन के साथ-साथ यूरोप में भी ऐसी परंपरा थी कि मई महीने के संडे को मदरिंग संडे के नाम पर मनाया जाता था। 
 
ग्रीस में इस दिन को त्योहार की तरह मनाया जाता है। बच्चे इस दिन मां को फूल और तौहफे देकर उनकी लंबी उम्र के लिए भगवान से प्रार्थना करते हैं। वहीं, ईसाई लोग इस दिन के वर्जिन मैरी का दिन मानते हैं और खुशिया मनाते हैं। 
 
यहां पर मदर्स डे रानी के जन्मदिन के दिन ही मनाया जाता है। लोग इस दिन खूब सैलिब्रेशन करते हैं। 
 
यहां पर मई नहीं बल्कि 2 जून को मदर्स डे मनाया जाता है। इस दिन को शांति प्रदान करने वाले दिन के रूप में मनाया जाता है। 
 
बोलीविया में मई के दूसरे हफ्ते नहीं बल्कि 27 मई को मदर्स डे सेलिब्रेट किया जाता है। इस दिन के पीछे का कारण है कि 27 मई 1812 को हुए कोरोनिल्ला युद्ध में स्पेनिश सेना ने उन महिलाओं का सरेआम कत्ल कर दिया था, जो देश की आजादी के लिए लड़ रही थी। उन्हें इस दिन के रूप में याद किया जाता है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS