ब्रेकिंग न्यूज़
नामकुम के पास भयंकर सड़क हादसा, बोलेरो-ट्रक की टक्‍कर में 7 लोगों की मौततीन चरणों में नहीं खुलेगा भाजपा का खाता: अखिलेश यादवआप-कांग्रेस में गंठबंधन को लेकर नहीं बनी बात, सिसोदिया ने कही ये बातफिल्म यारियां की एक्ट्रेस एवलिन शर्मा को याद आए पुराने दिन, शेयर की ये तस्वीरेंराष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने म्यूलर जांच रिपोर्ट को पूर्णतया असत्य और निराधार बतायासुपौल में राहुल ने पीएम पर जमकर साधा निशाना, कहा- चौकीदार को ड्यूटी से हटाने वाली है जनताफारबिसगंज में बोले प्रधानमंत्री मोदी, जनता की तपस्या को विकास कर लौटाऊंगाबेकार गई राणा और रसेल की पारी, बेंगलुरु ने 10 रन से जीता रोमांचक मुकाबला
जरूर पढ़े
बच्चों के स्वास्थ्य के लिए जरूरी मां की प्यार भरी झप्पी
By Deshwani | Publish Date: 28/3/2017 1:31:43 PM
बच्चों के स्वास्थ्य के लिए जरूरी मां की प्यार भरी झप्पी

प्रतीकात्मक फोटोः मां की प्यार भरी झप्पी

नई दिल्ली, (आईपीएन/आईएएनएस)। मीरा राजपूत मां बनने के बाद अपनी बेटी के साथ ही सारा समय बिता रही हैं, वहीं करीना कपूर भी अपने बेटे तैमूर अली खान के साथ मातृत्व का आनंद ले रही हैं। हर मां का अपने बच्चे के पालन-पोषण का तरीका अलग-अलग होता है, लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि मांओं को अपने बच्चों को प्यार भरी झप्पी देना नहीं भूलना चाहिए।

’हगीस’ के साथ जुड़ी क्लिनिकल साइकोलोजिस्ट प्रेरणा कोहली ने कहा कि आपकी झप्पी में कई भावनात्मक फायदे भी होते हैं।

1. उन्हें अच्छे से सुलाएं: अगर आप अपने बच्चे की नींद के कुछ वक्त बाद तक अपने बेहद करीब रखें और थपथपाएं। यह उनकी नींद के लिए बेहद फायदेमंद है। आपकी झप्पी की गरमाहट उन्हें आराम देती है और इसका उपचारात्मक प्रभाव भी होता है, जो उन्हें बेहतर रूप से सोने में मदद करती है।

गुरुग्राम में फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्टिट्यूट की कार्डियोलोजिस्ट शरद टंडन ने एक मां की झप्पी से जुड़ी कुछ वैज्ञानिक लाभों के बारे में बताया है।

1. प्रतिरक्षा में बढ़ोतरी: बच्चे को अपने सीने से लगाना, पुचकारना उनके स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकता है। इससे उनकी श्वेत रक्त कणिकाएं बढ़ती हैं, जो आपके बच्चों को काफी हद तक बीमारियों से बचाए रख सकती हैं।

2. आपकी प्यार भरी झप्पी आपके बीमार बच्चे को जल्द ठीक होने में भी मदद करती है। यह उनके शरीर से ओक्सिटोसिन को अलग करती है। इसकी सलाह विशेषज्ञ भी देते हैं। जन्म के समय से पूर्व ही पैदा होने वाले बच्चों के परिजनों को भी यह सलाह दी जाती है।

सबसे महत्वपूर्ण बात यह भी है कि 90 प्रतिशत चिकित्सकों और विशेषज्ञों का मानना है कि एक नवजात शिशु अपनी मां की पहचान उसकी झप्पी से ही करता है। मां के तन की खुशबू और छुअन ही उसे एहसास दिलाती है कि वह अपनी मां की गोद में है।

’हगीस’ के एक सर्वेक्षण से यह बात सामने आई है। 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS