ब्रेकिंग न्यूज़
अंतरराष्ट्रीय योग दिवसः योग के रंग में रंगी रांची, प्रधानमंत्री मोदी कल 50 हजार लोगों के साथ करेंगे योगजमुई में राजद नेता की गोली मारकर हत्या, जांच में जुटी पुलिसशेयर बाजार: फ़ेडरल रिजर्व ने दिया भविष्य में ब्याज दर कटौती का संकेत, सेंसेक्स 489 अंक उछलाप्रशासन की अपील के बावजूद अस्पताल में नेता-अभिनेताओं के दौरे, शरद 30 लोगों के साथ पहुंचेरोशन फैमिली के सपॉर्ट में आई सुजैन, कहा- मैं रिक्वेस्ट करूंगी कि ऐसे मुश्किल वक्त में परिवार का सम्मान करेंतेंदुलकर ने ट्वीट कर कहा- धवन के दर्द को महसूस कर सकता हूं, पंत को दी शुभकामनाएंएएन-32 विमान हादसा: सभी 13 वायु सैनिकों के शव बरामदसुनील पांडेय के भाइयों के ठिकानों पर एनआईए का छापा, करीबियों पर भी कसा शिकंजा
जरूर पढ़े
कैसे होगी सैंपल की जांच, ठप पड़ा है जांच का काम
By Deshwani | Publish Date: 8/9/2017 1:24:03 PM
कैसे होगी सैंपल की जांच, ठप पड़ा है जांच का काम

  पटना सिटी। अगमकुआं स्थित सूबे के एकमात्र संयुक्त खाद्य एवं औषधि प्रयोगशाला में सात दिनों से जांच बाधित है। औषधि प्रयोगशाला के ड्रग्स एनालिस्ट प्रभारी योगेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि वे बीते 31 अगस्त को सेवानिवृत्त हो गये हैं। कार्य अवधि विस्तार के लिए अभी तक विभाग से पत्र नहीं मिला है। ऐसे में जांच बाधित है।

 
दूसरी ओर कर्मियों की मानें संस्थान को अपग्रेड करने के लिए स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव के साथ बैठक हुई थी, जिसमें प्रधान सचिव के साथ ड्रग्स कंट्रोलर रवींद्र सिन्हा समेत अन्य थे। बैठक में संस्थान को अपग्रेड करने के लिए कार्ययोजना बनाने पर चर्चा की गयी। बताते चलें बीते अगस्त माह में औषधि प्रयोगशाला की जांच के लिए निदेशक प्रमुख स्वास्थ्य डॉ केपी सिन्हा पहुंचे थे। निरीक्षण के क्रम में ड्रग्स एनालिस्ट प्रभारी से कमियों के बारे में जानकारी प्राप्त की थी। बताते चलें कि महज सात कर्मियों के सहारे दवा जांच का कार्य कराया संचालित होता है।  
 
 ड्रग्स एनालिस्ट प्रभारी ने संसाधन व जांच मशीन के अभाव में अनेक दवाओं की जांच बाधित होने की जानकारी भी निदेशक प्रमुख को दी थी. औषधि विश्लेषक प्रभारी ने बताया कि जांच केंद्र में प्रति माह अमूमन लगभग 200 दवाएं व लिक्विड जांच के लिए आते हैं। 
 
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS