ब्रेकिंग न्यूज़
नामकुम के पास भयंकर सड़क हादसा, बोलेरो-ट्रक की टक्‍कर में 7 लोगों की मौततीन चरणों में नहीं खुलेगा भाजपा का खाता: अखिलेश यादवआप-कांग्रेस में गंठबंधन को लेकर नहीं बनी बात, सिसोदिया ने कही ये बातफिल्म यारियां की एक्ट्रेस एवलिन शर्मा को याद आए पुराने दिन, शेयर की ये तस्वीरेंराष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने म्यूलर जांच रिपोर्ट को पूर्णतया असत्य और निराधार बतायासुपौल में राहुल ने पीएम पर जमकर साधा निशाना, कहा- चौकीदार को ड्यूटी से हटाने वाली है जनताफारबिसगंज में बोले प्रधानमंत्री मोदी, जनता की तपस्या को विकास कर लौटाऊंगाबेकार गई राणा और रसेल की पारी, बेंगलुरु ने 10 रन से जीता रोमांचक मुकाबला
जरूर पढ़े
कैसे होगी सैंपल की जांच, ठप पड़ा है जांच का काम
By Deshwani | Publish Date: 8/9/2017 1:24:03 PM
कैसे होगी सैंपल की जांच, ठप पड़ा है जांच का काम

  पटना सिटी। अगमकुआं स्थित सूबे के एकमात्र संयुक्त खाद्य एवं औषधि प्रयोगशाला में सात दिनों से जांच बाधित है। औषधि प्रयोगशाला के ड्रग्स एनालिस्ट प्रभारी योगेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि वे बीते 31 अगस्त को सेवानिवृत्त हो गये हैं। कार्य अवधि विस्तार के लिए अभी तक विभाग से पत्र नहीं मिला है। ऐसे में जांच बाधित है।

 
दूसरी ओर कर्मियों की मानें संस्थान को अपग्रेड करने के लिए स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव के साथ बैठक हुई थी, जिसमें प्रधान सचिव के साथ ड्रग्स कंट्रोलर रवींद्र सिन्हा समेत अन्य थे। बैठक में संस्थान को अपग्रेड करने के लिए कार्ययोजना बनाने पर चर्चा की गयी। बताते चलें बीते अगस्त माह में औषधि प्रयोगशाला की जांच के लिए निदेशक प्रमुख स्वास्थ्य डॉ केपी सिन्हा पहुंचे थे। निरीक्षण के क्रम में ड्रग्स एनालिस्ट प्रभारी से कमियों के बारे में जानकारी प्राप्त की थी। बताते चलें कि महज सात कर्मियों के सहारे दवा जांच का कार्य कराया संचालित होता है।  
 
 ड्रग्स एनालिस्ट प्रभारी ने संसाधन व जांच मशीन के अभाव में अनेक दवाओं की जांच बाधित होने की जानकारी भी निदेशक प्रमुख को दी थी. औषधि विश्लेषक प्रभारी ने बताया कि जांच केंद्र में प्रति माह अमूमन लगभग 200 दवाएं व लिक्विड जांच के लिए आते हैं। 
 
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS