ब्रेकिंग न्यूज़
कैबिनेट ने घरेलू उत्पादित कच्चे तेल की बिक्री के विनियमन को मंजूरी दीविषम परिस्थितियों के बावयूद मोतिहारी का प्रेपरेटरी स्कूल-शिक्षायतन अपने मानक पर उतर रहा खराजी-7 शिखर सम्‍मेलन में भाग लेने भारत के प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी रविवार को जर्मनी के शहर म्‍यूनिख पहुंचेकतिपय चिकित्सक व जांचघर चला रहे अवैध ब्लड बैंक के वीडियों क्लिप के बाद जिलाधिकारी दिए जांच के आदेश, होगी कार्रवाईशिवसेना में गतिरोध जारी, विधानसभा के उपाध्यक्ष ने शिंदे गुट के 16 विधायकों को नोटिस जारी कर 48 घंटे में जवाब देने को कहासबसे कमजोर तबके के जीवन में बदलाव लाना ही वास्तविक विकास-नरेंद्र सिंह तोमरबिहार: भागलपुर में स्वर्ण कारोबारी से बदमाशों ने 30 किलो चांदी लूटी, जांच में जुटी पुलिसपूर्वी चंपारण के एनएच 28 पर हार्डवेयर कारोबारी की गोली मारकर हत्या
जरूर पढ़े
मधुमेह रोगियों के लिए पैरों को चोट एवं घाव से बचाव में मददगार होगा स्कैनिंग तंत्र लगा सैंडल
By Deshwani | Publish Date: 17/6/2022 10:54:32 PM
मधुमेह रोगियों के लिए पैरों को चोट एवं घाव से बचाव में मददगार होगा स्कैनिंग तंत्र लगा सैंडल

पटना। जितेन्द्र कुमार सिन्हा। शोधकर्ताओं का मानना है कि बाजार में उपलब्ध अधिकांश चिकित्सकीय सैंडल मधुमेह रोगियों के लिए अनुपयोगी है, क्योंकि उस सैंडल पर पैर का दबाव असामान्य रूप से पड़ता है। भारतीय विज्ञान संस्थान (आइ आइ एस सी) और कर्नाटक इंस्टीट्यूट ऑफ एंडोक्राईनोलॉजी एंड रिसर्च (के आइ इ आर) के शोधकर्ताओं ने ऐसे सैंडल का निर्माण किया है जो मधुमेह रोगियों के लिए कारगर तो होगा ही, साथ ही साथ पैरों को चोट लगने से और पैर को घाव होने से भी बचाव में मदद करेगा।




शोधकर्ताओं का कहना है कि यह सैंडल सुन्न हुए पैर के लिए भी उपयोगी होगा। भारतीय विज्ञान संस्थान के मेडिकल इंजीनियरिंग विभाग के पीएचडी छात्र प्रियव्रत महाराणा का कहना है कि सैंडल को डिजाइन करते समय व्यक्ति विशेष के वजन, पैर के आकार, चलने की गति और दबाव वितरण आदि को ध्यान में रखा गया है। सैंडल की पूरी लंबाई में दबाव को ऑफ लोड करने के लिए आर्क लगाया गया है।




प्रायः देखा जाता है कि स्वस्थ लोगों की तुलना में मधुमेह के रोगियों के पैर में चोट या घाव जल्द ठीक नहीं होता है और तकलीफ दायक होता है।रोगियों में संक्रमण का खतरा और जटिलताएं बढ़ जाती है, इसे ध्यान में रखकर वैज्ञानिकों ने विशेष रूप से सैंडल का डिजाईन किया है।  





यह सैंडल थ्रीडी प्रिंट वाला है और इसे व्यक्ति विशेष के, पंजों के आकार और चलने की शैली के, अनुसार बनाया जा सकता है। पैर सुन्न हो जाने पर मधुमेह पीड़ित लोगों के चलने का तरीका अनियमित हो जाता है। स्वस्थ व्यक्ति आमतौर पर जमीन पर पहले एड़ी, फिर पंजा और तब पैर की अंगुलियाँ रखता है। लेकिन पैरों के सुन्न होने के कारण मधुमेह पीड़ित लोग ऐसा नही करते, जिससे पैर का दबाव असामान्य रूप से बट जाता है। इसलिए पारंपरिक चिकित्सकीय फूटवियर के विपरीत सैंडल में एक स्नैपिंग तंत्र लगाया है जो पैरों को अच्छी तरह से संतुलित रखता है और जख्म वाले हिस्से को तेजी से ठीक करने में मदद करता है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS