ब्रेकिंग न्यूज़
शहीद सैन्य पदाधिकारी व सैनिकों की वीर नारियों के सम्मान समारोह बिहार के राज्यपाल ने किए 92 वीर नारियों को सम्मानितनेपाल के मकवानपुर में चार बच्चों समेत आठ भारतीय पर्यटकों की मौतभाजपा नेता रवि किशन ने शाहीनबाग़ के विरोध को बताया विपक्ष की साजिश, कहा - 500 रुपये लेकर महिलाएं कर रहीं प्रदर्शनपरीक्षा में अच्‍छे अंक ही सबकुछ नहीं - मोदी, परीक्षा पे चर्चा-2020 कार्यक्रम में देश भर के दो हजार से अधिक विद्यार्थी ले रहे भागजम्‍मू कश्‍मीर के शोपियां जिले में 3 आतंकवादी ढेर, सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ जारीतहकीकात बाद दें किराया, मोतिहारी के अंबिकानगर लॉज से पटना से अपहृत छात्र मुक्त, प्रिंस पाण्डेय समेत 5 गिरफ्तारमोतिहारी की सांस्कृतिक भूमि को उर्वरा बनानेवाले पूर्व वीसी डॉ वीरेन्द्रनाथ पाण्डेय का पटना में निधनकेन्द्र सरकार के गृह राज्यंत्री, बिहार के भाजपा अध्यक्ष व विधायक साथ रक्सौल में 47 वी बटालियन आउट पोस्ट का जायजा लिया
जरूर पढ़े
ठंड मे हाई ब्लड प्रेशर एवं मधुमेह के मरीजो मे लकवा होने का अधिक खतरा: डॉ० गोपाल
By Deshwani | Publish Date: 21/12/2019 7:23:37 PM
ठंड मे हाई ब्लड प्रेशर एवं मधुमेह के मरीजो मे लकवा होने का अधिक खतरा: डॉ० गोपाल

 मोतिहारी। ठंड के इस मौसम में लकवा एवं जोड़ो में दर्द होने का ख़तरा अधिक रहता है। ठंड के समय में हाई ब्लड प्रेशर एवं डायबिटीज के मरीजो को नियमित अंतराल पर अपने ब्लड प्रेशर एवं ब्लड शुगर की जाँच करवानी चाहिए, उक्त बातें मोतिहारी शहर के अगरवा माई स्थान मंदिर के नजदीक स्थित गौतम बुद्ध दर्द उपचार क्लिनिक के संस्थापक सह निदेशक जिले के चर्चित युवा चिकित्सक डॉ गोपाल कुमार सिंह ने कहीं।

 
 
डॉ गोपाल ने बताया कि ठंड के मौसम मे कई प्रकार की समस्या शुरू होने लगती हैं, खासतौर से युवाओं मे  चेहरा के लकवा एवं उम्रदराज लोगों मे जोड़ो के दर्द की समस्या अधिक देखने को मिलती है।
 
 
जैसे-जैसे तापमान कम होने लगता है रक्तवाहिकाऐं सिकुड़ने लगती हैं और बोन मास डेन्सिटी कम हो जाता है जिससे शरीर के विभिन्न हिस्सों में दर्द की शिकायत अधिक होने लगती है।
डॉ सिंह ने बताया कि डायबिटीज एवं अर्थराईटिस के मरीजो को फिजियोथेरेपिस्ट चिकित्सक के सलाह पर बताया हुआ व्यायाम नियमित अपने कार्य क्षमता के अनुरूप करनी चाहिए।
 
 
 
मधुमेह एवं उच्च रक्तचाप यानी हाई ब्लड प्रेशर के मरीज नियमित दवाओं के सेवन के साथ अपने खान पान पर विशेष रूप से ध्यान रखें। धूप निकलने पर कुछ समय के लिए सूर्य की रोशनी ले। पारालिसिस एवं बेल्स पाल्सी यानी चेहरा के लकवा के ईलाज में फिजयोथेरेपी कारगर साबित होता है। डॉ सिंह ने लोगों को खासकर बच्चो एवं बुजुर्गो को ठंड से बचने की सलाह दी है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS