ब्रेकिंग न्यूज़
बेतिया-चनपटिया सड़क मार्ग पर बस दुर्घटनाग्रस्त, दर्जनों यात्री घायलश्रीमद्भागवत कथा ज्ञान महायज्ञ के पहले दिन निकली गई भव्य कलश शोभा यात्रा, सैकड़ों महिला पुरुष हुए शामिलयूपी सुन्नी वक्फ बोर्ड के चैयरमैन को सुरक्षा मुहैया कराने का सुप्रीम कोर्ट ने दिया निर्देशभारतीय मूल के अभिजीत और उनकी पत्नी एस्थर डफ्लो को मिला वर्ष 2019 के लिए अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कारछौड़ादानों से रक्सौल तक जर्जर नहर रोड का आखिरकार खुला टेंडर, जांच प्रक्रिया के बाद शुरू होगा कामडायरिया से बचाव को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट, सीएस ने किया मेडिकल टीम का गठननागा रोड में हुआ डिजिटल सेवा केन्द्र का उदघाट्न, लोगों को मिलेगी काफी सहूलियत47वीं वाहिनी के द्वारा रक्सौल में 22 दिवसीय मोटर ड्राइविंग कोर्स का उद्घाटन, पीएम मोदी के स्वरोजगार बनाने के सपनों को करेगा साकार
मुंगेर
अपहरण के 12 घंटों के बाद भी अपहृत स्टेशन-मास्टर और पोर्टर का कोई सुराग नहीं
By Deshwani | Publish Date: 20/12/2017 4:59:26 PM
अपहरण के 12 घंटों के बाद भी अपहृत स्टेशन-मास्टर और पोर्टर का कोई सुराग नहीं

मुंगेर (बिहार), ( हिस )। पूर्व रेलवे के मालदा रेल मंडल में किउल-जमालपुर रेल खण्ड के मधुसूदन रेलवे स्टेशन पर मंगलवार की देर रात माओवािदयों ने हमला कर स्टेशन को आग के हवाले कर दिया और स्टेशन-मास्टर मुकेश कुमार पासवान (उम्र-40) तथा पोर्टर नागेन्द्र मंडल (उम्र-55) को शस्त्रों की नोंक पर अगवा कर लिया ।


रेल पुलिस अधीक्षक(जमालपुर) शंकर झा ने घटनास्थल पर बुधवार को बताया कि अपहृत स्टेशन-मास्टर और पोर्टर माओवादियों के कब्ज़े में हैं । उन्होंने कहा कि अभी तक अपहृतों का कोई सुराग पुलिस के हाथ नहीं लगा है ।


उन्होंने बताया कि जिला पुलिस रेल पुलिस के साथ मिलकर अपहृत स्टेशन-मास्टर और पोर्टर की बरामदगी के लिए मुंगेर और लखीसराय जिलों में संयुक्त रूप से सघन छापामारी कर रही है ।


इस बीच पुलिस ने घटनास्थल पर बताया कि नक्सलियों के दल में तीन सदस्यीय महिला दस्ता भी शामिल था। शंकर झा ने बताया कि माओवादीयों द्वारा स्टेशन को टारगेट बनाने के बाद मंगलवार की मध्य रात्री से बुधवार अपराह्न एक बजे तक किउल-जमालपर रेल खण्ड पर अप और डाउन ट्रेन का परिचालन पूरी तरह ठप्प है।


इस बीच, मालदा रेल मंडल ने 12367 अप भागलपुर-आनन्द विहार विक्रमशिला एक्सप्रेस और 13401 अप भागलपुर -दानापुर इन्टरसिटी एक्सप्रेस के मार्ग में परिवर्तन कर जमालपुर-किउल रेल खण्ड के बदले भागलपुर‘-मुंगेर-बरौनी रेल खण्ड से चलाने की घोषणा की है ।


श्री झा ने बताया कि माओवादियों द्वारा मधुसूदन रेलवे स्टेशन को आग के हवाले किए जाने के बाद स्टेशन मास्टर का कार्यालय, रेल कंट्रोल -पैनल, टिकट काउन्टर पर स्थित कम्प्यूटर और कार्यालय का सभी कागजात जलकर पूरी तरह राख हो गया है ।


अपहृत स्टेशन-मास्टर मुकेश कुमार पासवान मुंगेर जिले के धरहरा थाना क्षेत्र के माताडीह गांव और पोर्टर नागेन्द्र मंडल मुंगेर जिले के गनगनिया गांव के रहनेवाले है । अपहरण कि घटना के बाद से दोनों पीड़ितों के परिजन और उनके परिवार किसी अनहोनी की आशंका से दहशत और आतंक में हैं ।


इस बीच रेल पुलिस अधीक्षक ने बताया कि जमालपर रेल पुलिस सीमा के सभी महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशनों पर रेल पुलिस पूरी चैकसी बरत रही थी परन्तु , नक्सलियों ने सुनसान मधुसूदन रेलवे स्टेशन को टारगेट किया। ट्रेन परिचालन ठप रहने के कारण मधुसूदन, धरहरा , दशरथपुर और आस-पास के गांवों के स्नातक के अनेक परिक्षार्थी समय पर परीक्षा केन्द्र पर नहीं पंहुच सके और उनकी परीक्षा छूट गई।
रेल पुलिस अधीक्षक (जमालपुर) शंकर झा, मुंगेर एस0पी0 आशीष भारती और लखीसराय एस0पी0 अरविन्द ठाकुर ने बुधवार की दोपहर घटनास्थल मधुसूदन रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया।
 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS