ब्रेकिंग न्यूज़
झारखंड विधानसभा चुनाव 2019: तीसरे चरण में 1:00 बजे तक 45% से अधिक मतदानआज उच्‍चतम न्‍यायालय में दुष्‍कर्म और हत्‍या के चार आरोपियों की मुठभेड़ में मौत की एसआईटी जांच की याचिकाओं पर होगी सुनवाईएक संसदीय समिति ने कहा है कि सरकार को रसोई गैस पर अधिक सब्सिडी वाली एक और योजना शुरू करने के बारे में करना चाहिए विचारझारखंड में विधानसभा चुनाव 2019: तीसरे चरण का मतदान शुरूमेरे खून का एक – एक कतरा है संविधान विरोधी नागरिकता बिल के खिलाफ : पप्‍पू यादवउड़ीसा में महिलाओं और बच्चों से संबंधित मामलों की सुनवाई के लिए बनाए जाएंगे 45 नई फास्ट ट्रैक अदालतेंअब हम उन्हें चाचा नहीं बल्कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहेंगे: तेजस्वी यादववेडिंग एनिवर्सरी पर अनुष्का-विराट हुए रोमांटि‍क, शेयर की ये बेहद रोमांटिक तस्वीर
मोतिहारी
कस्टम कमिश्नर ने आइजीएसटी रिर्टन रिफंड मेले का किया उद‍्घाटन, सीमा पर आयात-निर्यात को कैसे बढ़ाया जाए इस पर की चर्चा
By Deshwani | Publish Date: 3/9/2019 6:12:59 PM
कस्टम कमिश्नर ने आइजीएसटी रिर्टन रिफंड मेले का किया उद‍्घाटन, सीमा पर आयात-निर्यात को कैसे बढ़ाया जाए इस पर की चर्चा

रक्सौल। अनिल कुमार। मंगलवार को सीमा पर संचालित एकिकृत जांच चौकी मे कस्टम कमिश्नर पटना रंजीत कुमार की अध्यक्षता में आइसीपी संचालन में शामिल विभिन्न स्टेक होल्डर एंजेसियों के साथ एक बैठक हुई। आइजीएसटी रिर्टन रिफंड मेले का उद‍्घाटन करने रक्सौल पहुंचे कमिश्नर श्री कुमार ने स्टेक होल्डरों से बात कर सीमा पर आयात-निर्यात को कैसे बढ़ाया जाये, इस पर चर्चा की गई। साथ ही कस्टम क्लियरिंग एंजेट के साथ बैठक कर उनकी समस्याओं के बारे में सुना तथा उसके निदान के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश स्थानीय पदाधिकारियों को दिया। 

 
बैठक से पूर्व कस्टम कमिश्नर श्री कुमार दीप प्रज्जवलित कर तीन दिनों तक चलने वाले आइजीएसटी रिर्टन रिफंड मेले का उद‍्घाटन किया। इसके बाद प्रेस को संबोधित करते हुए श्री कुमार ने बताया कि जीएसटी टैक्स लागू होने से पहले रिर्टन का काम ऑफिसर का होता है और मैनुअल तरीके से रिफंड किया जाता था। लेकिन जीएसटी लग जाने के बाद रिफंड का पूरा सिस्टम ऑटेमेटिक हो गया है। इसमें मानवीय रोल बिल्कुल समाप्त हो चुका है। ऐसे में दो फॉर्म भरने में एक कौमा भी गलत हो जाने के बाद रिफंड पेडिंग में चला जाता है। इसी को लेकर यह आइजीएसटी रिर्टन मेले का आयोजन किया गया है। मेले के दौरान पूर्व से लंबित रिर्टन का भुगतान किया जायेगा, साथ ही व्यापारी को उस गलती के बारे में भी बताया जायेगा, जिसके कारण उनका रिफंड पेडिंग हो गया है।
 
उन्होंने बताया कि रक्सौल में कुल 1603 आइजीएसटी रिर्टन के मामले पेडिंग है।उनका समाधान इन तीन दिनों में किया जायेगा।वहीं व्यापारियों को यह भी बताया जायेगा कि वे आगे से अपने डॉक्युमेंट में ऐसी गलती न करें, जिसके कारण उनका रिफंड पेडिंग हो जाये। साथ ही उन्होने घोषणा की कि रक्सौल में अब नियमित रूप से आइजीएएसटी रिर्टन को लेकर एक हेल्प सेंटर द्वारा काम होगा।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS