ब्रेकिंग न्यूज़
समस्तीपुर डीएम ने कहा- जो भी दुकान व मॉल में संचालक व कर्मी बिना मास्क के पाए गए तो उस दुकान व मॉल को सील कर दिया जायेगावीरगंज पुलिस ने भारी मात्रा में नशीली दवा के साथ दो भारतीय व एक नेपाली नागरिक को किया गिरफ्तारमोतिहारी के बंजरिया में पुलिस द्वारा सील मकान से ट्रक पर लादे जा रहे बिजली विभाग से चोरी के तार के साथ वाहन मालिक सहित 7 गिरफ्ताररामगढ़वा मे 13 वर्षीय नाबालिग से घर बुला कर जबरन किया दुष्कर्म, चार नामजदसमस्तीपुर : लद्दाख में शहीद अमन की विधवा को मिली नौकरी, डीएम ने दिया नियुक्ति पत्रसमस्तीपुर : समस्तीपुर में कोरोना से युवा व्यवसायी की मौत, छह लोगों की हो चुकी है अबतक मौतमोतिहारी की छतौनी पुलिस ने लकड़ी लदे ट्रक में छुपाकर रखी भारी मात्रा में शराब जब्त की, 6 गिरफ्तार, झखिया में देनी थी डिलेवरीमोतिहारी के कल्याणपुर में पूर्व प्रमुख के पति की रड व चाकू से गोदकर हत्या, भाजपा जिलाध्यक्ष प्रकाश अस्थाना के छोटे भाई जेपी अस्थाना भी गंभीर घायल
मोतिहारी
मोतिहारी में एक राष्ट्रीय आंदोलन के तहत एक दिवसीय विधि चिकित्सालय का आयोजन
By Deshwani | Publish Date: 26/8/2019 1:38:23 PM
मोतिहारी में एक राष्ट्रीय आंदोलन के तहत एक दिवसीय विधि चिकित्सालय का आयोजन

मोतिहारी। शहर के अंबेडकर भवन के सभागार मे राष्ट्रीय दलित मानवाधिकार अभियान राष्ट्रीय दलित न्याय आंदोलन के द्वारा रविवार को एक दिवसीय विधि चिकित्सालय का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष शेष नारायण कुंअर, सदर डीएसपी मुरली मनोहर मांझी एवं दिल्ली उच्च न्यायालय के अधिवक्ता संजय कुमार ने संयुक्त रुप से दीप प्रज्जवलित कर किया। 

 
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप मे उपस्थित डीएसपी मांझी ने कहा कि पीड़ित को त्वरित न्याय दिलाने के लिए सरकार सदैव तत्पर है। कहा कि वे भी पूरी कोशिश करते हैं कि अनुजाति जनजाति के पीड़ित को त्वरित नयाय एवं आरोपी को सजा मिले। राष्ट्रीय दलित मानवाधिकार अभियान के द्वारा पीड़ित को न्याय दिलाने के लिए आयोजित विधि चिकित्सालय के आयोजन समिति धन्यवाद के पात्र है। जिन्होंने इस तरह का कार्यक्रम आयोजित किया।
 
संजय कुमार ने कहा कि पूरे भारत के 15 राज्यों मे ये प्रयोग किया जा रहा है अनुजाति जनजाति के तहत पीड़ित को न्याय दिलाने तथा पीड़ित के मनचाहे अधिवक्ता के सपेशल पीपी नियुक्त करने तथा अनुजाति के नियम एव धारा के प्रावधानों को विधि सम्मत लागू करवाने हेतु  विद्वान अधिवक्ताओ पुलिस अधिकारी तथा 20 केसो के पीड़ित को एक साथ लाकर उसे त्वरित न्याय दिलाने का एक प्रयोग है।
 
इस अवसर पर जयराम प्रसाद कुशवाहा, सुरेश साहनी बालदेव ठाकुर, सुरेश चौधरी, विजय रंजन, जयलाल राम, धर्म नाथ, रवि, विद्यानन्द राम,  फ़ुलेना मली  शंकर रजक निक्की कुमारी  गजेन्द्र पासवान महेंद्र मांझी सीता देवी शैल देवी सहित सैकड़ों उपस्थित थे।
 
 कार्यक्रम की अध्यक्षता अधिवक्ता ललन पासवान एवं संचालन राष्ट्रीय दलित मानवाधिकार अभियान के जिला संयोजक राजू बैठा ने किया।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS