ब्रेकिंग न्यूज़
झारखंड विधानसभा चुनाव 2019: तीसरे चरण में 1:00 बजे तक 45% से अधिक मतदानआज उच्‍चतम न्‍यायालय में दुष्‍कर्म और हत्‍या के चार आरोपियों की मुठभेड़ में मौत की एसआईटी जांच की याचिकाओं पर होगी सुनवाईएक संसदीय समिति ने कहा है कि सरकार को रसोई गैस पर अधिक सब्सिडी वाली एक और योजना शुरू करने के बारे में करना चाहिए विचारझारखंड में विधानसभा चुनाव 2019: तीसरे चरण का मतदान शुरूमेरे खून का एक – एक कतरा है संविधान विरोधी नागरिकता बिल के खिलाफ : पप्‍पू यादवउड़ीसा में महिलाओं और बच्चों से संबंधित मामलों की सुनवाई के लिए बनाए जाएंगे 45 नई फास्ट ट्रैक अदालतेंअब हम उन्हें चाचा नहीं बल्कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहेंगे: तेजस्वी यादववेडिंग एनिवर्सरी पर अनुष्का-विराट हुए रोमांटि‍क, शेयर की ये बेहद रोमांटिक तस्वीर
मोतिहारी
महज छ: महीने में रक्सौल थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर अयूब ने लोगों के दिलों में बनाई जगह, गीता व कुरान देकर दी गई विदाई
By Deshwani | Publish Date: 13/8/2019 11:00:00 PM
महज छ: महीने में रक्सौल थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर अयूब ने लोगों के दिलों में बनाई जगह, गीता व कुरान देकर दी गई विदाई

रक्सौल। अनिल कुमार।

मंगलवार को शहर के रक्सौल थानाध्यक्ष म.अयूब खान की भावभीनी विदाई बिहार प्रदेश युवा कांग्रेस के महासचिव सह गोपालगंज प्रभारी प्रो.अखिलेश दयाल के नेतृत्व में किया गया। प्रदेश महासचिव ने कहा कि म.अयूब खान एवं उनकी टीम का कार्य रक्सौल परिक्षेत्र में सराहनीय एवं उल्लेखनीय रहा। उन्होने कभी समाज में ऊँच-नीच व जातिवाद का भेदभाव नहीं रखा। रक्सौल में समाजिक सौहार्द बनाये रखा। इनका कार्यकाल मात्र छः महीने का रहा। लेकिन छः महीने के अन्दर ही रक्सौल के लोगों के दिलों पर राज करने लगे। प्रदेश महासचिव एवं उनकी टीम के द्वारा दोशाला ओढ़ाकर एवं हिन्दूधर्म का पवित्र ग्रंथ श्रीमद्भगवद्गीता, मुस्लिम धर्म का पवित्र ग्रंथ कुरान-ए-शरीफ देकर समाज में यह संदेश दिया है कि जब भी कोई व्यक्ति न्याय की कुर्सी पर बैठता है तो जाति एवं धर्म के आधार पर फैसला नही करता बल्कि इंसानियत एवं नैतिकता के आधार पर न्याय करता है। 

थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर खान ने युवाओं को संदेश देते हुए कहा कि जब समाज के सभी वर्गों का सहयोग एवं सद्भाव मिले प्रशासन सामाजिक कुरीतियों को तभी दूर कर सकता है। क्योंकि समाज से बङा प्रशासन नहीं होता। समाज के आपसी सद्भाव, प्रेम में जब कोई दखल करता है तो प्रशासन अपनी अहम भूमिका निभाकर वैसे लोगों को  सही रास्ते पर लाने का काम करता है। क्योंकि हिन्दू/मुस्लिम धर्मग्रंथ में लिखा है "कर्म कर फल की चिंता मत कर"। युवा कांग्रेस के नगर अध्यक्ष म.इनामुल्लाह उर्फ मासूम ने कहा कि अधिकारी आते और जाते रहेगें। लेकिन कभी-कभी ऐसे अधिकारी भी आ जाते है, जो दिल में घर बना जाते है। जिसका बेहतर उदाहरण म.अयूब खान है। 
उक्त विदाई कार्यक्रम में ईश्वर चन्द्र प्रसाद, यमुना कुमार, कृष्णा साह, रजनीश उपाध्याय, कन्हैया कुमार, संजय कुमार, नरेश कुमार, अवधेश कुमार यादव व रंजीत कुमार गुप्ता सहित अनेक लोग उपस्थित थे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS