ब्रेकिंग न्यूज़
जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के अनेक भागों में भारी बर्फबारी, उत्तर भारत में भी शीतलहर का प्रकोपपटना गैंगरेप के आरोपित विपुल कुमार और मनीष कुमार ने कोर्ट में किया सरेंडर, अभी भी दो फरारनागरिकता संशोधन विधायक किसी भी हालत में पश्चिम बंगाल में लागू नहीं होगा: ममता बनर्जीस्ट्रीट डांसर 3d में ऐसा होगा श्रद्धा कपूर का लुक, वरुण धवन ने शेयर किया पहला पोस्टरसमस्तीपुर के दलसिंहसराय में महिला से दुष्कर्म के बाद हत्या, गेहूं के खेत में मिला शवराजधानी दिल्ली सहित उत्तर भारत के कई इलाकों में भारी वर्षा, उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में रेड अलर्ट जारीपीएम मोदी ने संसद भवन पर आतंकी हमले में शहीदों को दी श्रद्धांजलिनागरिकता संशोधन विधेयक 2019 को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दी मंजूरी
मोतिहारी
प्रधानाध्यापक को हटाने के लिए छात्रों ने स्कूल में जमकर काटा बवाल
By Deshwani | Publish Date: 6/8/2019 10:25:25 PM
प्रधानाध्यापक को हटाने के लिए छात्रों ने स्कूल में जमकर काटा बवाल

मोतिहारी/चिरैया। अर्चना रंजन। विद्यालय के प्रधानाध्यापक सहित शिक्षकों के गैर जिम्मेदाराना रवैये और स्कूल में व्याप्त शेक्षणिक अराजकता से त्रस्त छात्रों ने स्कूल में तालाबंदी कर जमकर हंगामा किया। वहीं विद्यालय के प्रधानाध्यापक गजेन्द्र यादव की तानाशाही को लेकर जमकर नारेबाजी भी किया। जिसके कारण पुरे दिन स्कूल में अफरा-तफरी का माहौल कायम रही। छात्रों के आक्रोश को देख प्रधानाध्यापक और शिक्षक बगल के बगीचा में भाग खड़े हुए। छात्रों ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री भ्रमण योजना, साइकिल योजना, नैपकिन आदि की राशि निकासी कर हेडमास्टर ने गबन कर लिया है। छात्रों ने यह भी कहा कि राशि और चावल उपलब्ध रहने के बाद भी विगत छह महीनों से एमडीएम बंद है।

 
 
विद्यालय के बच्चों ने बताया कि एचएम की पदस्थापना काल से ही कभी अंडा और सेव का वितरण नही हुआ है। वे सप्ताह में एक दिन दोपहर को आते है और एक घण्टे के भीतर चले जाते है। जिसके कारण अन्य शिक्षक भी स्कूल में हमेशा नही आते है। इसलिए छात्र बिना पढ़ाई किये ही लौट जाते है। विद्यालय शिक्षा समिति की सचिव ममता देवी ने बताया कि एमडीएम का दो लाख रुपये निकासी कर अपने निजी कार्य में खर्च कर लिया। मामले को लेकर डीईओ और डीएम को पूर्व में ही आवेदन पत्र दिया गया है। जिसकी जांच चल रही है। छात्रों ने कहा कि अगले दिन से एचएम को स्कूल में घुसने नही देंगे।
 
 
इनलोगों ने डीएम से उक्त शिक्षक को निलंबित करने की मांग किया है। घटना की सूचना पर पहुंचे सीआरसीसी सुबोध कुमार पाठक ने छात्रों को समझा बुझा कर हंगामा शांत कराया तथा प्रधानाध्यापक के विरुद्ध कार्रवाई करने हेतु बीआरसी को रिपोर्ट देने का आश्वासन दिया। तब जाकर बच्चे शांत हुए
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS