ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार में बलात्‍कारियों को गोली मारने वालों को पप्‍पू यादव देंगे 5 लाख, कहा-हैदराबाद एनकाउंटर टीम को देंगे 50-50 हजारभारत ने आज 13वें दक्षिण एशिया खेलों में 2 स्वर्ण सहित 12 पदक जीतेपॉक्‍सो अधिनियम के तहत दोषियों के लिए नहीं होना चाहिए दया याचिका का प्रावधान: रामनाथ कोविंदझारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में होने वाले चुनाव की तैयारी हुई पूरीलोजपा की पूर्व महिला प्रदेश अध्यक्ष नीलम सिन्हा वीआईपी में शामिलएनकाउंटर पर मायावती बोलीं- हैदराबाद पुलिस से सीख ले दिल्ली-यूपी की पुलिसहैदराबाद गैंगरेप के चारों आरोपियों को पुलिस ने एनकाउंटर में किया ढ़ेरहैदराबाद के दिशा दुष्कर्म और हत्या कांड के चारों आरोपी पुलिस मुठभेड़ में मारे गए
मोतिहारी
रक्सौल में तिसरे दिन भी चला अतिक्रमाणकारियों पर प्रसासनिक डंडा, दुकानदारों ने किया विरोध
By Deshwani | Publish Date: 10/6/2019 10:13:47 PM
रक्सौल में तिसरे दिन भी चला अतिक्रमाणकारियों पर प्रसासनिक डंडा, दुकानदारों ने किया विरोध

रक्सौल। अनिल कुमार।

शहर में तीसरे दिन भी अतिक्रमणकारियों पर प्रशासन का चला डंडा। एसडीएम अमित कुमार के निर्देश पर शनिवार को भी अतिक्रमण हटाओ अभियान चला।

 अतिक्रमण हटाने में डीसीएलआर मनीष कुमार, कार्यपालक पदाधिकारी गौतम आनंद, अवर निर्वाचन पदाधिकारी संतोष कुमार, बीडीओ कुमार प्रशांत व अंचलाधिकारी सुनील कुमार मल्ल के साथ पुलिस पदाधिकारियों ने नगरपरिषद कर्मियों के सहयोग किया। इस दौरान थाना के सामने लगे सुधा मिल्क, डेयरी मिल्क व अन्य दुकानदार सड़क पर उतर आये और जमकर विरोध किया। फिर भी प्रशासन ने मजबूती के साथ अतिक्रमण हटाने में कोई कसर नही छोड़ी।
 
दुकानदारों का कहना था कि अतिक्रमण मुंह देखकर हटाया जा रहा है। जहाँ से नगरपरिषद को फायदा है, वहा से नहीं हटता, बाकी गरीबों में निवाला छिनने का प्रयास किया जा रहा है। प्रशासन के अनुसार शनिवार के दिन अतिक्रमण हटाने के दौरान भारी गुमटी वालों ने दो दिनों की मोहलत मांगी थी। गुमटी हटाने के लिए। लेकिन इन दो दिनों में गुमटी को नहीं हटाया गया। शहर को हर हाल में अतिक्रमण मुक्त करना है।
 
 
वहीं आम लोगों व समाजसेवियों के अनुसार यह पहली बार नहीं है जब शहर से अतिक्रमण हटाया गया हो। हर बार ऐसा ही होता है। बड़ी सख्ती के साथ अतिक्रमण हटाये जाते हैं। फिर एक सप्ताह के अंदर अतिक्रमण अपने जगह पर होता है। अर्थात नतिजा ढाक के तीन पात होते हैं। लोगों का कहना है कि नगरपरिषद का यह दिखावा होता है। खैर इस बार एसडीम के निर्देश पर अतिक्रमण बड़े ही सख्ती के साथ हटाया जा रहा है, अब देखने वाली बात यह है कि यह अतिक्रमण वाकई में हमेशा के लिए हटेगा , लंबे दिनों के लिए हटेगा या फिर वही पुराना किस्सा दोहराया जायेगा।                                               
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS