ब्रेकिंग न्यूज़
आमने-सामने
टैलेंट है तो दुनिया में कहीं भी काम करना आसान: अदा शर्मा
By Deshwani | Publish Date: 3/3/2017 11:39:39 AM
टैलेंट है तो दुनिया में कहीं भी काम करना आसान: अदा शर्मा

रीतू तोमर

नई दिल्ली, (आईपीएन/आईएएनएस)। फिल्म ’1920’ में अपनी अदाकारी से प्रभावित कर चुकीं अभिनेत्री अदा शर्मा को अपनी आगामी फिल्म ’कमांडो 2’ से बहुत उम्मीदें हैं। अदा की बॉलीवुड में अपना एक अलग मुकाम बनाने की इच्छा है और उन्हें उम्मीद है कि ’कमांडो 2’ उनके इस सपने को कामयाब करने में मील का पत्थर साबित होगी। 

साल 2008 में फिल्म ’1920’ से डेब्यू कर चुकीं अदा ने यूं तो ’हम हैं राही कार के’ और ’हंसी तो फंसी’ जैसी फिल्मों में काम किया है लेकिन उन्हें लगता है कि ’कमांडो 2’ में उन्हें अपनी प्रतिभा दिखाने का बेहतरीन मौका मिला है। अदा शर्मा ने आईएएनएस के साथ साक्षात्कार में बताया, “फिल्म 1920 में मैंने भूत का किरदार निभाया था लेकिन कमांडो 2 में मुझे एक मॉर्डन लड़की का किरदार निभाने का मौका मिला जो लोगों को पसंद आएगा।“

’कमांडो 2’ विद्युत जामवाल के कंधों पर टिकी हुई है, तो ऐसे में फिल्म में अदा के लिए क्या खास है? इसके जवाब में वह कहती हैं, “ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। 1920 में रजनीश दुग्गल सशक्त किरदार में थे लेकिन फिर भी लोगों ने मेरा काम पसंद किया। कमांडो 2 की पटकथा में मेरा किरदार बेहतरीन तरीके से गढ़ा गया है, मैंने स्क्रिप्ट सुनते ही यह फिल्म करने का मन बना लिया था। विद्युत के जबरदस्त एक्शन के बावजूद लोगों को मेरा किरदार पसंद आएगा।“

इस फिल्म में अदा ने सभी एक्शन सीन हाई हील्स में किए हैं। वह कहती हैं, “हां, आपने सही सुना है। मैने सभी एक्शन दृश्य हिल पहनकर किए हैं। हिल के साथ एक्शन करना बहुत आसान है और यह स्क्रिप्ट की डिमांड के अनुरूप किया गया है। मैंने फिल्म में गुची बैग से एक्शन दृश्य भी कर रही हूं जो लोगों को भाएंगे।“

तमिल, कन्नड़ और तेलुगू फिल्मों में काम कर चुकी अदा शर्मा दक्षिण की फिल्मों की तरह हिंदी फिल्म जगत में भी खुद को स्थापित करना चाहती हैं। यह पूछे जाने पर कि दक्षिण की फिल्मों की तुलना में हिंदी फिल्म जगत में काम करना कितना चुनौतीपूर्ण रहा? वह कहती हैं, “दक्षिण भारत में एक्शन फिल्मों और रोमांटिक फिल्मों को अधिक पसंद किया जाता है। अक्षय कुमार हाल ही में दक्षिण में रजनीकांत के साथ फिल्म की शूटिंग करके आए हैं तो मणिरत्नम हिंदी फिल्म जगत में काम कर रहे हैं। दक्षिण या उत्तर भारत तो सिर्फ भौगोलिक सीमाएं हैं। अंतर सिर्फ भाषा का है। आजकल सभी दक्षिण भारतीय कलाकारों को हिंदी का अच्छा-खासा ज्ञान होता है और वे बड़े आराम से यहां काम करते भी हैं तो किसी के लिए चुनौती जैसा कुछ भी नहीं है।“

वह कहती हैं, “मेरा मानना है कि अगर आपमें टैलेंट हैं तो आप दुनिया में कहीं भी जाकर काम कर सकते हैं।“ अदा शर्मा ग्लैमर नहीं बल्कि अभिनय के जरिए जनमानस पर छाप छोड़ने में विश्वास रखती हैं। वह कहती हैं, “मैं पैसे कमाने के लिए इंडस्ट्री में नहीं आई हूं। मुझे अभिनय के जरिए अपनी एक छाप छोड़नी है।“

अदा शर्मा आमिर खान की बहुत बड़ी प्रशंसक हैं और मौका मिलने पर ’दंगल’ में आमिर खान जैसा किरदार निभाना चाहेंगी। वह कहती हैं, “दंगल में आमिर खान का किरदार मेरे ड्रीम किरदारों में से एक है। अगर मुझे भविष्य में मौका मिलता है तो इस तरह के किरदार जरूर करूंगी।“

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS