ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी में विभिन्न मुहल्लों में विकास दिवस के रूप मनाया गया बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का 70 वां जन्मदिनबैंक से रुपए निकालने के बाद बरतें सतर्कता, मोतिहारी में झपटमारों ने स्कॉर्पियों से उड़ाए 13 लाख नगदसमस्तीपुर: सरायरंजन में शार्ट सर्किट, महादलित के दर्जन भर घर राख, लाखों की क्षतिवाइस एडमिरल अजेंद्र बहादुर सिंह ने फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ, ईएनसी का पदभार संभालाआयकर विभाग ने हैदराबाद के एक प्रमुख फर्मास्युटिकल समूह की ली तलाशीहमें प्रसंस्कृत खाद्य के लिए देश के कृषि क्षेत्र का वैश्विक बाजार में विस्तार करना है: प्रधानमंत्रीभारत-पाकिस्‍तान के बीच नियंत्रण रेखा और अन्‍य सैक्‍टरों पर संयुक्‍त अरब अमारात ने संघर्ष विराम घोषणा का स्‍वागत कियामुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने आज राजधानी पटना में कोविड-19 का लगवाया टीका
बिहार
नेशनल मेडिकल कमीशन ने मधेपुरा के जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज को दी एमबीबीएस पढ़ाई की मान्यता
By Deshwani | Publish Date: 3/11/2020 5:36:23 PM
नेशनल मेडिकल कमीशन ने मधेपुरा के जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज को दी एमबीबीएस पढ़ाई की मान्यता

पटना।  जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल मधेपुरा में एमबीबीएस की पढ़ाई की मान्यता मिल गई है। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय नेबताया है कि नेशनल मेडिकल कमीशन ने एक सौ सीटों पर एमबीबीए की पढ़ाई की मंजूरी दी है।

 

बताया गया है कि फिलहाल एक वर्ष के लिए मान्यता दी गई है। अगले सत्र में नामांकन की अनुमति मेडिकल एस्सेमेंट एंड रेटिंग बोर्ड से लेना अनिवार्य होगा। 


781.25 करोड़ रुपए की लागत से सबैला में बने 500 बेड के जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इसी सत्र से एमबीबीएस की पढ़ाई को एमसीआई से हरी झंडी मिल गई है। 100 करोड़ से अधिक रुपए की अत्याधुनिक मेडिकल मशीन भी यहां लगी हैं। लंबे जद्दोजहद के बाद सोमवार को ही एमसीआई से पत्र जारी कर दिया। जानकारी देते हुए मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉक्टर गौरीकांत मिश्र ने बताया कि कोसी और सीमांचल क्षेत्र के लिए आज गौरव का दिन है। एमसीआई से मान्यता संबंधित लेटर ऑफ परमिशन मिल गया है। 


शीध्र ही आगे की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। प्राचार्य ने बताया कि एमसीआई के सचिव डॉ. आरके वत्स द्वारा पत्र में कहा गया है कि जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल को बिहार नेशन मेडिकल कमीशन की मेडिकल एसेसमेंट एंड रेटिंग बोर्ड ने औपचारिक अनुमति (फॉरमल परिमशन) देने का निर्णय लिया है। इसके तहत 100 छात्र-छात्राओं का नामांकन सत्र 2020-21 से लिया जा सकता है। यह अनुमति प्रारंभिक तौर पर मात्र एक वर्ष के लिए दी गई है। अगले सत्र में नामांकन की अनुमति मेडिकल एस्सेमेंट एंड रेटिंग बोर्ड से लेना अनिवार्य होगा। 

छात्रों के नामांकन में 15 प्रतिशत कोटा अखिल भारतीय स्तर पर आवंटित किया गया है। मार्च में शुरू किया गया था अस्पताल: विदित हो कि वर्ष 2008 में मधेपुरा में मेडिकल कॉलेज खोलने की घोषणा होने के बाद 6 जून 2013 में इसका शिलान्यास किया गया था। 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS