ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी में विभिन्न मुहल्लों में विकास दिवस के रूप मनाया गया बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का 70 वां जन्मदिनबैंक से रुपए निकालने के बाद बरतें सतर्कता, मोतिहारी में झपटमारों ने स्कॉर्पियों से उड़ाए 13 लाख नगदसमस्तीपुर: सरायरंजन में शार्ट सर्किट, महादलित के दर्जन भर घर राख, लाखों की क्षतिवाइस एडमिरल अजेंद्र बहादुर सिंह ने फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ, ईएनसी का पदभार संभालाआयकर विभाग ने हैदराबाद के एक प्रमुख फर्मास्युटिकल समूह की ली तलाशीहमें प्रसंस्कृत खाद्य के लिए देश के कृषि क्षेत्र का वैश्विक बाजार में विस्तार करना है: प्रधानमंत्रीभारत-पाकिस्‍तान के बीच नियंत्रण रेखा और अन्‍य सैक्‍टरों पर संयुक्‍त अरब अमारात ने संघर्ष विराम घोषणा का स्‍वागत कियामुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने आज राजधानी पटना में कोविड-19 का लगवाया टीका
मधेपुरा
आलमनगर में बाढ़ से जनजीवन अस्त-व्यस्त
By Deshwani | Publish Date: 15/8/2017 9:36:49 AM
आलमनगर में बाढ़ से जनजीवन अस्त-व्यस्त

मधेपुरा, (हि.स.)। जिले के आलमनगर प्रखंड क्षेत्र में आई बाढ़ से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। लोगों को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। कोसी नदी का पानी लगातार नये इलाके में तेजी से फैलने से अब आलमनगर मुख्यालय पर भी संकट गहराने लगा है। प्रखंड के आठ पंचायतों में बाढ़ का कहर जारी है।
चार पंचायत के कई दर्जनों गांवों का सड़क संपर्क कट चुका है। सोनामुखी खापुर रतवारा सड़क पर चार-पांच फीट पानी भरा हुआ है। आलमनगर सोनामुखी सड़क के पोरा टोला में दो से तीन फीट पानी बह रहा है। वहीं बड़गांव इटहरी, गौछीडीह, बजराहा सड़क पर भी पानी की तेज धार देखने को मिल जाएगी। रतवारा, गंगापुर, खापुर, इटहरी, बड़गांव पंचायत की लगभग सभी सड़कों पर पानी भरा है।। बीच के गांंव टापू में तब्दील हो गए हैं। लोगों ने ऊंचे स्थानों पर शरण ले रखी है। वहीं प्रखंड के रतवारा, खापुर, बड़गांव, इटहरी, कुंजौड़ी, आलमनगर पुर्वी, आलमनगर दक्षिणी एवं नरथुआ भागीपुर पंचायत के कई गांवों को भी भयानक बाढ़ ने अपनी चपेट में ले लिया है। पशुपालकों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS