ब्रेकिंग न्यूज़
आईएएस से छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री बनने वाले अजीत जोगी नहीं रहें, प्रधानमंत्री मोदी व सीएम नीतीश ने जताई गहरी शोक संवेदनामोतिहारी के चकिया में दो प्रवासी कामगारों की एक्सीडेंट में हुई मौत, बाइक पर सवार हो दिल्ली से जा रहे थे दरभंगा, रास्ते में हुई दुर्घटनामोतिहारी की पीपराकोठी में एसएसबी ने करीब 2 करोड़ मूल्य की मॉरफीन पकड़ी, वाहन जब्त, ड्राइवर भी गरफ्तारदेश के अलग-अलग हिस्सो से रक्सौल आए 470 लोगों को किया गया होम क्वारेंटाइनरक्सौल शहर के नागारोड में पुलिस ने छापेमारी कर 100 बोतल नेपाली शराब व 2 किलो 700 ग्राम गांजा किया जप्तसमस्तीपुर में बूढ़ी गंडक नदी में मिली लापता किशोर की लाशश्रमिक स्पेशल ट्रेन में प्रसव पीड़ा पर पहुंची मेडिकल टीम, बच्ची ने ली जन्मपुणे से आए प्रवासी की क्वारंटाइन सेंटर में मौत
लोहरदगा
पाइप जलापूर्ति योजना से घर-घर पहुंचने लगा पीने का पानी
By Deshwani | Publish Date: 31/7/2017 4:52:06 PM
पाइप जलापूर्ति योजना से घर-घर पहुंचने लगा पीने का पानी

लोहरदगा, (हि.स.)। कभी पीने की पानी के लिए दर-दर की ठोकरें खाने वाले लोगों को आज उनके घर में शुद्ध पेयजल मिलने लगा है। लोहरदगा जिला का किस्को प्रखंड आज पेयजल के मामले में काफी समृद्ध हो गया है। परहेपाट पंचायत वासियों को अब पानी की खोज को लेकर इधर-उधर भागदौड़ नहीं करना पड़ रहा है। पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल लोहरदगा के द्वारा 4 करोड़ 90 लाख रुपए की लागत से पाइप लाइन जलापूर्ति योजना के तहत वॉटर ट्रिटमेंट प्लांट प्रखंड मुख्यालय से महज एक किलोमीटर की दूरी पर उत्तरी छोर पर शंख नदी को जोड़ने वाली नदी में स्थापित किए जाने से परहेपाट पंचायत क्षेत्र के हर घर में शुद्ध पेयजल का सप्लाई शुरू कर दिया गया है। पंचायत के तीन गांव गुड़गुड़िया, छत्तर टोली एवं होन्दगा को छोड़कर सभी घर को पूर्ण रूप से पीने का पानी वाटर ट्रिटमेंट प्लांट पाइप लाइन जलापूर्ति योजना के तहत उपलब्ध कराया गया है। किस्को ग्रामीण पाईप जलापूर्ति योजना के तहत 1260 घरों में गृह जल संयोजन किया जा रहा है। इसके तहत परहेपाट, किस्को एवं खरकी अंबा टोली के ग्रामीण लाभान्वित होंगे| इस योजना को अगस्त 2017 में पूर्ण करना था. संवेदक ने इस कार्य को बड़ी मुस्तैदी से करते हुए जुलाई माह में ही इस कार्य को पूरा कर दिया। अभी ट्रायल रन चल रहा है। परहेपाट पंचायत के ग्रामीणों को पीने के पानी के लिए अब कोसो दूर पानी की खोज में भटकना नहीं पड़ रहा है. पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल के द्वारा बनाया गया वॉटर ट्रिटमेंट प्लांट से न सिर्फ ग्रामीणों को पीने का पानी मिलने लगा है बल्कि प्रखण्ड मुख्यालय में पदस्थापित सभी कर्मियों को भी शुद्ध सप्लाई पानी पीने के लिए उपलब्ध हुआ है। 
इतना ही नहीं वॉटर ट्रिटमेंट प्लांट से किस्को थाना एवं बैंक ऑफ इंडिया, झारखण्ड ग्रामीण बैंक, सीआरपीएफ कैम्प, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सहित सभी सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थानों में भी पेयजल की समस्या से पदाधिकारियों एवं कर्मियों को जूझना नहीं पड़ रहा है। इसके पूर्व इस क्षेत्र के लोगों को बूंद-बूंद पानी के लिए तरसना पड़ता था। ग्रामीण लंबे समय से जलापूर्ति व्यवस्था करने की मांग अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों से करते थे। पेयजल स्वच्छता विभाग के द्वारा ग्रामीणों की परेशानी को देखते हुए इस योजना की स्वीकृति दी थी। पेयजल स्वच्छता विभाग के कार्यपालक अभियंता रेयाज आलम का कहना है कि ये जलापूर्ति योजना हमारे विभाग के लिए सबसे महत्वपूर्ण योजना थी। इसका टेंडर 9 बार निकला लेकिन उग्रवादियों के खौफ से किसी ने भी टेंडर नहीं डाला। अंत में 10 वें बार निविदा के माध्यम से यह कार्य एसएस इंटरप्राइजेज रांची को दिया गया। संवेदक ने निर्धारित समय सीमा के पूर्व ही इस कार्य को पूरा कर दिया। यह काफी सराहनीय काम है। अब किस्को प्रखंड क्षेत्र के जनता को काफी सुविधा होगी।
 
परहेपाट पंचायत में कुल आबादी 7235 है। वही पूरे पंचायत क्षेत्र में कुल 80 चापानल हैं। इसके सहारे ग्रामीण अपना काम चलाते थे।बीते तपीश भरी गर्मी में जो भी चापानल खुद प्यासा साबित हो गया था उसे भी ठीक किया जा चुका है। अब पंचायत के सभी चापानल से ग्रामीणों को पीने का पानी मिलने लगा है। इससे ग्रामीणों में हर्ष व्याप्त है। परहेपाट पंचायत की मुखिया सुखमनी लकड़ा का कहना है कि पेयजल विभाग ने पानी की समस्या को लेकर बेहतर पहल किया है। मुखिया ने बाकी बचे तीनों गांव में बरसात के बाद शीघ्र वॉटर ट्रिटमेंट प्लांट का निर्माण कराने के लिए विभाग को पहल करने की मांग की है, ताकि पूरे पंचायत के ग्रामीण पानी की समस्या के लिए न भटके। पेययजल एवं स्वच्छता प्रमंडल के कनीय अभियंता जहिन्द्र भगत ने कहा कि पानी की गंभीर समस्या को देखते हुए विभाग ने बेहतर पहल किया है। उन्होंने बताया कि वॉटर ट्रिटमेंट प्लांट कार्य से पंचायत क्षेत्र के ग्रामीणों को पीने का शुद्ध पानी मिलने से काफी गर्व महसूस हुआ है।
किस्को निवासी इस्तियाक अंसारी का कहना है कि पेयजल विभाग ने इंसान के लिए सबसे पहली जरूरत का चीज पानी की गम्भीर समस्या से निजात दिलाने का सराहनीय कदम उठाया है। समाज सेवी अंजु देवी का कहना है कि पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल के कनीय अभियंता जहिन्द्र भगत के द्वारा पानी की जटिल समस्या से ग्रामीणों को भटकने से बचाने का बेहतर एवं सराहनीय कार्य किया गया है। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS