ब्रेकिंग न्यूज़
कोविड-19 पाॅजिटिव मरीजों को हर हाल में मुहैया करायें मेडिसिन किट्स: डीएमबेतिया के गली-नाली पक्कीकरण योजनान्तर्गत पेवर ब्लाॅक का करें इस्तेमाल: जिलाधिकारीमोतिहारी डीएम ने कहा - कोविड-19 सैंपलिंग में प्रगति नहीं तो होगी कार्रवाई, अनुपस्थित लैब टेक्नीशियन व प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी का रुकेगा वेतनमोतिहारी के युवा चिकित्सक डॉ धीरज ने रविवार को भी बाढ़ पीड़ितों का हाल जाना, राहत सामग्री बांटी, सेनेटरी पैड व दवाएं भी वितरित किएपूर्णिया से चोरी के ट्रैक्टर को खरीदने ग्राहक बन गए थे दो पुलिस, मोतिहारी के चिरैया में टेलर सहित टैक्टर व कैश बरामद, एक गिरफ्तारलॉकडाउन उल्लंघन के मामले में मोतिहारी की दो दुकानों से 14 गिरफ्तार, मिली जमानत भीकोरोना वायरस की जांच के लिए दिल्ली में दूसरा सेरोलॉजिकल सर्वेक्षण आज से शुरू, 77% आबादी हो सकती है कोरोना वायरस से प्रभावितनेपाल के वीरगंज मे सांसद और मेयर सहित 64 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए
लातेहार
झारखंड में 10 लाख के इनामी नक्सली ने किया सरेंडर
By Deshwani | Publish Date: 5/3/2018 5:27:21 PM
झारखंड में 10 लाख के इनामी नक्सली ने किया सरेंडर

लातेहार। झारखंड के नक्सल प्रभावित जिले लातेहार में झारखंड जन मुक्ति परिषद (जेजेएमपी) के इनामी नक्सली ने सरेंडर कर दिया। नक्सलवाद के रास्ते पर चल पड़े गुमराह युवाओं को मुख्यधारा से जोड़ने के लिए शुरू की गयी सरकार की ‘नयी दिशा’ योजना के तहत इस नक्सली ने सरेंडर किया है।

नक्सली का नाम उपेंद्र सिंह खरवार बताया गया है। सरकार ने उसकी गिरफ्तारी पर 10 लाख रुपये का इनाम घोषित कर रखा था। उपेंद्र ने पलामू के डीआइजी विपुल शुक्ला के समक्ष सरेंडर किया। सबजोनल कमांडर उपेंद्र ने बताया कि जमीन विवाद के कारण वह नक्सली बना था। उसने कहा कि मुख्यधारा में लौटने पर उसने खुशी जाहिर की।
 
डीआइजी शुक्ला ने कहा कि उपेंद्र सिंह खरवार पर 15 केस दर्ज हैं। वह लातेहार और पलामू में सक्रिय था। उन्होंने कहा कि नक्सलियों पास बस एक ही रास्ता है कि वे आत्मसमर्पण कर देश के विकास में योगदान करें। ऐसा नहीं करने पर नक्सलियों को पुलिस अपनी गोलियों का शिकार बनायेगी। डीआइजी ने कहा कि माओवादियों, पीएलएफआइ और जेजेएमपी को अब इस बात का एहसास हो गया है कि उग्रवाद के खिलाफ सरकार की इच्छाशक्ति के सामने वे ज्यादा दिनों तक नहीं टिकेंगे। इसलिए नक्सली संगठन के लोग सरकार की सरेंडर नीति का लाभ उठाकर आत्मसमर्पण कर रहे हैं।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS