ब्रेकिंग न्यूज़
35वें बॉक्‍सम अंतर्राष्‍ट्रीय मुक्‍केबाजी टूर्नामेंट में भारत की मुक्‍केबाज पूजा रानी सेमीफाइनल मेंसरकार ने कोविड टीकाकरण अभियान में तेजी लाने को समय सीमा हटाया, 24 घंटे टीकाकरण की दी अनुमतिप्रधानमंत्री को सेरावीक 2021 में 5 मार्च को मिलेगा सेरावीक वैश्विक ऊर्जा एवं पर्यावरण नेतृत्व पुरस्कारजम्मू-कश्मीर: पुलवामा में पुलिस ने आतंकवादियों के ठिकाने का किया भंडाफोड़समस्तीपुर: एसबीआई शाखा से दिन दहाड़े छह लाख की लूटभारत और इंग्लैंड के बीच चौथा और आखिरी टेस्ट कल से अहमदाबाद में होगा शुरूदिल्ली: नगर निगम उपचुनाव में आम आदमी पार्टी ने चार वार्डों में किया कब्जाएमडीएल ने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए 92.56 करोड़ रुपये का अंतरिम लाभांश दिया
लातेहार
लातेहार में आजसू नेता रंजीत सिंह की हत्या
By Deshwani | Publish Date: 19/2/2018 4:14:34 PM
लातेहार में आजसू नेता रंजीत सिंह की हत्या

लातेहार। झारखंड के लातेहार में चंदवा थाना क्षेत्र के चकला गांव में ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन (आजसू) नेता रंजीत सिंह की हत्या का मामला सामने आया है। पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है। जानकारी के मुताबिक, आजसू नेता रंजीत सिंह का शव आज चकला गांव के आनंद भुईया के घर के सामने पड़ा मिला है। अभी तक इस संबंध में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

 
अपराधियों ने मंगलवार शाम शक्तिशाली डेटोनेटर का विस्फोट कर कोडरमा जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष शंकर यादव को वाहन सहित उड़ा दिया था। इस घटना में कांग्रेस नेता की स्कार्पियो के परखचे उड़ गए। घटना में शंकर यादव के चालक धर्मेंद्र यादव (35) और प्राइवेट राइफलधारी बॉडीगार्ड कृष्णा यादव गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों को कोडरमा सदर अस्पताल ले जाया गया, जहां कृष्णा यादव की मौत हो गई, जबकि धर्मेंद्र को रांची रेफर कर दिया गया।
 
घटना उस समय हुई, जब शंकर यादव हजारीबाग जिले के चौपारण थाना क्षेत्र के भटबिगहा स्थित अपनी पत्थर माइंस से अपने घर (झुमरी) कोडरमा लौट रहे थे। इसी दौरान रास्ते में अरुण ¨सह व सम्राट ¨सह की माइंस के बीच एक सुनसान जगह पर उनकी स्कॉर्पियो को विस्फोट कर उड़ा दिया गया। घटनस्थल पर पहले से संदिग्ध हालत में खड़े भूसा लदे एक टेंपो के भी परखचे उड़ गए। संभवत: इसी लावारिस टेंपों में डेटोनेटर को प्लांट कर सड़क के किनारे झाड़ी में छिपाकर रखा गया था। जैसे ही शंकर यादव की गाड़ी टेंपो के पास पहुंची टेंपों को विस्फोट कर उड़ा दिया गया, जिसकी चपेट में शंकर यादव की स्कॉर्पियो भी आ गई।
 
घटना की सूचना मिलते ही कोडरमा एसपी शिवानी तिवारी, एसडीपीओ अनिल शंकर, डीएसपी कर्मपाल उरांव, एसडीओ प्रभात कुमार बरदियार के अलावा हजारीबाग जिले के चौपारण थाने की पुलिस भी घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की छानबीन की। घटनास्थल पर पहुंचे बरही के विधाायक मनोज कुमार ने शंकर के शव को उठाने से रोक दिया। उन्होंने एक्सपर्ट की टीम बुलाने की मांग की है। पुलिस के अनुसार हजारीबाग से डीआईजी भीमसेन टूटी के नेतृत्व में एक्सपर्ट की टीम घटनास्थल के लिए चल चुकी है। मामले की गंभीरता को देखते हुए घटनास्थल पर रोशनी की व्यवस्था की जा रही है। जिला प्रशासन के भी कई वरीय अधिकारी घटनास्थल पर कैंप किए हुए हैं। वहीं घटनास्थल के आसपास सैकड़ों की भीड़ जमी है। पूर्व विधायक उमाशंकर अकेला भी घटनास्थल पर पहुंचे हैं।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS