ब्रेकिंग न्यूज़
कोविड-19 पाॅजिटिव मरीजों को हर हाल में मुहैया करायें मेडिसिन किट्स: डीएमबेतिया के गली-नाली पक्कीकरण योजनान्तर्गत पेवर ब्लाॅक का करें इस्तेमाल: जिलाधिकारीमोतिहारी डीएम ने कहा - कोविड-19 सैंपलिंग में प्रगति नहीं तो होगी कार्रवाई, अनुपस्थित लैब टेक्नीशियन व प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी का रुकेगा वेतनमोतिहारी के युवा चिकित्सक डॉ धीरज ने रविवार को भी बाढ़ पीड़ितों का हाल जाना, राहत सामग्री बांटी, सेनेटरी पैड व दवाएं भी वितरित किएपूर्णिया से चोरी के ट्रैक्टर को खरीदने ग्राहक बन गए थे दो पुलिस, मोतिहारी के चिरैया में टेलर सहित टैक्टर व कैश बरामद, एक गिरफ्तारलॉकडाउन उल्लंघन के मामले में मोतिहारी की दो दुकानों से 14 गिरफ्तार, मिली जमानत भीकोरोना वायरस की जांच के लिए दिल्ली में दूसरा सेरोलॉजिकल सर्वेक्षण आज से शुरू, 77% आबादी हो सकती है कोरोना वायरस से प्रभावितनेपाल के वीरगंज मे सांसद और मेयर सहित 64 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए
लातेहार
सरकार का उद्देश्य है भ्रष्टाचार मुक्त राज्य बने : सीएम रघुवर
By Deshwani | Publish Date: 14/8/2017 11:31:52 AM
सरकार का उद्देश्य है भ्रष्टाचार मुक्त राज्य बने : सीएम रघुवर

लातेहार, (हि.स.)। मुख्यमंत्री रघुवर दास रविवार को जिले के सबसे नक्सल प्रभावित क्षेत्र सरयू पहुंच कर सरकार आपके द्वार कार्यक्रम का उद्घाटन किया। सीएम ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार का उद्देश्य है कि भष्टाचार मुक्त राज्य बने। इसके लिए सरकार खुद आपके द्वारा पहुंच रही है, ताकि सरकार और ग्रामीणों के बीच की दूरी कम हो सके। उन्होंने कहा कि आजादी के 70 साल बीत जाने के बाद भी ग्रामीणों को मुलभूत सुविधाएं नहीं मिल सकी, जिसका सबसे बड़ा कारण बिचौलियों का होना है। मेरी सरकार जब बनी तो सबसे पहले हमने सरकार और ग्रामीणों के बीच दूरी कम कर राज्य से बिचौलियों को उखाड़ देंकने का संकल्प लिया। इसी सोच को लेकर राज्य सरकार को गांव में जाने की योजना बनाई और जिसका प्रतिफल है कि सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के तहत आपके द्वारा आया हूं। उन्होंने कहा कि पारदर्शी शासन और जिम्मेवार प्रशासन ही राज्य को विकास की गति प्रदान कर सकता है। जिसको लेकर सरकार के द्वारा योजना का निर्माण, योजना की स्वीकृति सभी कार्य को गांव में करने का निर्देश दिया गया। 
उन्होंने कहा कि आज गांव के ग्रामीण ही अपने गांव की योजना बना रहे हैं और उसे सरकार मूर्त रूप दे रहा है, ताकि गांव का संपूर्ण विकास हो सके। अब ग्रामीणों को आय,जाति और आवासीय समेत अन्य किसी भी प्रमाण पत्र को लेने के लिए प्रखंड या पंचायत जाने की जरूरत नहीं है। बल्कि सरकार ने इसके लिए गांव के ही कुछ नवयुवकों को स्वयं बना कर सारे कार्य करवाने की जिम्मेवारी दी है। इसके तहत अब ग्रामीणों के सारे प्रमाण पत्र घर बैठे ही बन जायेंगे। उन्होंने बताया कि अब प्रमाण पत्र बनाने के लिए तीस रूपये की जगह मात्र दस रूपये की ग्रामीणों को देने होंगे। बाकी बीस रूपये सरकार प्रज्ञा केन्द्र के संचालकों को देगी। 
 
उन्होंने कहा कि पूरे राज्य को कैशलेस बनाना है, जिसके लिए सरकार के माध्यम से स्पार्ट फोन का वितरण किया जायेगा, ताकि झारखंड कैशलेस राज्य बन सके। उन्होंने कहा कि ढ़ाई साल में हमारी सरकार पर एक भी दाग नहीं लगे। सरयू क्षेत्र के लिए पचास पुल पुलिया का निर्माण लगभग 80 करोड़ की लागत से किया जायेगा, जिसको लेकर सरकार के द्वारा 61 करोड़ रूपये निर्गत कर दिए गए है। उन्होंने कहा कि पुल-पुलिया निर्माण से गांव के विकास की गति तेज होगी। उन्होंने कहा कि वर्ष 2018 तक राज्य के सभी गांव में बिजली पहुंचाने का लक्ष्य सरकार ने रखा है। उन्होंने महिला सक्तीकरण पर भी जोर दिया। महिलाओं के स्वालंबी बनाने के लिए सरकार ने सखी मंडल,उद्यमी सखी से जोड़ कर सरकारी योजनाओं का लाभ दिला रही है। उन्होंने कहा कि सरकार की योजना है कि प्रत्येक हाथों को काम देकर उसे आत्मनिर्भर बनाया जाए, जिसको लेकर कौशल विकास योजना समेत अन्य योजनाओं के तहत प्रशिक्षण देकर रोजगार दिलाया जा रहा है। पंचायत से सौ नव युवक युवतियों को चयन किया जा रहा है। इस दौरान उन्होंने ग्रामीणों को एलईडी बल्ब घर-घर में जलाने की अपील की।
उन्होंने बताया कि बल्ब जलने से भारी मात्रा में उर्जा की खपत कम होगी, जिससे सरकार पैसे बचेंगे। उस पैसे को सरकार उसी क्षेत्र में के विकास के लिए खर्च करेगी। उन्होंने पर्यटन के क्षेत्र में भी सरयू को विकसित करने की बात कही। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से कहा कि चंद पैसे के लालच में आपसभी पथ भटक जाते हैं। उन्होंने कहा कि बंदूक से कभी विकास नहीं लिखा जा सकता है। बंदूक सिर्फ लहू बहा सकता है। खेतों की सिंचाई के लिए सरकार के कदम से कदम मिलाने की जरूरत है। उन्होंने समाज से भटके हुए लोगों को मुख्यधार से जुड़ने का आह्वान किया। कार्यक्रम के दौरान चतरा सांसद सुनील कुमार सिंह ने भी केन्द्र और राज्य सरकार की विकास योजनाओं से लोगों को अवगत कराया। मौके पर विधायक हरिकष्ण सिंह मुख्य सचिव राजबाला वर्मा,अपर मुख्य सचिव अमित खरे,पंचायती राज सचिव विनय चौबे और मुख्यमंत्री के सचिव सुनील वर्णवाल समेत कई लोग उपस्थित थे।
जोहार योजना की होगी शुरूआत
सरयू गांव में सरकार आपके द्वारा कार्यक्रम में शिरकत करने आएं मुख्यमंत्री रघुवर दास ने जोहार योजना की शुरूआत करने की बात कही। उन्होंने कहा कि सरकार जल्द ही इस योजना की शुरूआत करेंगी। इसके तहत ग्रामीणों को चार लाख रूपये सरकार लोन देगी, जिसमें तीन लाख का चूजा खरीदना है ।वही एक लाख का शेड निर्माण करना है। उन्होंने बताया कि बाद में जो अंड़ा मिलेगा उसे विद्यालय में लाभूक बेंच देंगे, जिससे उनके आय के स़्त्रौत बढ़ने से स्वालंबी बन सकेगें। 
किताब का किया विमोचन: 
मुख्यमंत्री रघुवार दास ने सरयू में जाति आवासीय प्रमाण बनाने वाले किताब का विमोचन किया। किताब का विमोचन करते हुए उन्होंने कहा कि प्रशासन और ग्रामीणों के बीच संवादहीनता नहीं होनी चाहिए। उन्होंने अधिकाािरयों को ग्रामीणों के प्रति संवेदनशील बनने की बात कही। मुख्यमंत्री ने सरयू उच्च विद्यालय में अच्छे अंक लाने वाले विद्यार्थियों को सम्मानित किया। इस दौरान उन्होंने नेहा प्रवीण,राखी कुमारी,शशि उरांव को सम्मानित किया। कार्यक्रम में दौरान ही जेई और कम्प्यूटर ऑपरेटरों को नियुक्त प़त्र भी सौंपा; 
सीएम जब पंचायत सचिवालय के समीप कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे तो अचानक पंचायत सचिवालय के पास राजू के मकान में समीप ही कुर्सी लगाकर बैठ गए। इस दौरान उन्होेंनें ऑन स्पॉट जाति,आवासीय और आय प्रमाण पत्र बनवाया। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार का उद्देश्य है कि सरकारी योजनाओं का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंच सके। 
अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के राष्ट्रीय संगठन मंत्री महेन्द्र कपूर ने कहा कि झारखंड के सभी विश्वविद्यालयों में प्रभावी संगठन खड़ा करने पर जोर देते हुए कहा कि हमें प्रवास प्रत्येक विश्वविद्यालय में नियमित करना चाहिए । उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश यह होनी चाहिए कि प्रत्येक विश्वविद्यालय के सभी जिलों मे अपना कार्य दिखे। उन्होंने अक्टूबर में प्रदेश अभ्यास वर्ग आयोजित करने का आह्वान किया ।
कार्यक्रम में प्रदेश संयोजक डॉ ब्रजेश कुमार, डॉ सुशील अंकन, डॉ एसपी सिन्हा, एचआरडी सी के निदेशक डॉ अशोक चौधरी, रांची विश्वविद्यालय के उपकुलसचिव डॉ प्रीतम कुमार, डॉ कंजीव लोचन, डॉ प्रदीप कुमार सिंह, डॉ राजकुमार चौबे, डॉ विजय प्रकाश, डॉ नमिता सिंह, डॉ पूनम सहाय, डॉ बीके मिश्रा, डॉ शशि कुमार गुप्ता, डॉ मनोज कुमार, डॉ राजकुमार सिंह और डॉ गोखुल नारायण दास सहित कई शिक्षकों ने भी संबोधित किया ।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS