ब्रेकिंग न्यूज़
झारखंड में बिहार सहित अन्य राज्यों से आनेवाली बस की एंट्री नहीं, निजी वाहनों को भी लेना होगा ई-पासमोतिहारी के कोटवा में ट्रक व कार में भीषण टक्कर, एक की मौत चार अन्य घायल, दो की स्थित गंभीरबिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जानबिहार में लॉकडाउन के पांचवें चरण की हुई घोषणा, 30 जून तक बढ़ा, कोरोना संक्रमण की संख्या 6,692 हुईजमात उल मुजाहिद्दीन का आतंकी अब्दुल करीम को कोलकता एसटीएफ ने पकड़ा, गया ब्लास्ट मामले में हो रही थी खोज
बिहार
मूल्यांकन में बाधा डालने वालों पर कानूनी कार्रवाई कारवाई की जाएगी : डीएम
By Deshwani | Publish Date: 7/4/2017 1:17:55 PM
मूल्यांकन में बाधा डालने वालों पर कानूनी कार्रवाई कारवाई की जाएगी : डीएम

मुख्य सचिव के फरमान के बाद जिला प्रशासन अब सख्त

किशनगंज, (हि.स)। मुख्य सचिव के फरमान के बाद जिला प्रशासन भी अब सख्त हो गया है। जिलाधिकरी व पुलिस अधीक्षक मूल्यांकन कार्य का जायजा लेने पहुंचे। मूल्यांकन केंद्र के समीप धरना पर बैठे शिक्षकों से मिलकर अधिकारी द्वय सरकार के निर्देश का पालन करने व मूल्यांकन कार्य में व्यवधान नहीं डालने की चेतावनी दी।

जिलाधिकारी ने शिक्षक संघ के नेताओं को स्पष्ट रूप से कहा कि मूल्यांकन कार्य में भाग लेने वाले अन्य शिक्षकों को रोकने का प्रयास नहीं करें,अन्यथा कानूनी कार्रवाई की जाएगी। सीबीएसई स्कूलों व मध्य विद्यालय के योग्य शिक्षकों से शुक्रवार से मूल्यांकन कार्य प्रारंभ कराने की जिलाधिकारी ने निर्देश दिया। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने कहा कि कॉलेज शिक्षकों से भी मदद लेने पर विचार की जा रही है। बिहार परीक्षा बोर्ड के द्वारा नेशनल हाई स्कूल को मूल्यांकन केंद्र बनाया गया है। जिलाधिकारी के निर्देश के बाद डीईओ मो.गयासुद्दीन शिक्षकों की सूची बनाने में जुटे गए हैं। जिला शिक्षा पदाधिकारी ने इस संबंध में बताया कि मूल्यांकन कार्य समय पर पूरा करने को लेकर वैकल्पिक व्यवस्था की प्रक्रिया चल रही है।
बताते चलें कि पिछले पांच दिनों से समान काम के बदले समान वेतन की मांग को लेकर माध्यमिक शिक्षक संघ द्वारा मैट्रिक परीक्षा के उत्तर पुस्तिका का मूल्यांकन कार्य का बहिष्कार कर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। मूल्यांकन कार्य समय पर संपन्न नहीं होने पर रिजल्ट आने में भी देरी होगी, जिसे लेकर बिहार सरकार गंभीर बनी हुई है और मूल्यांकन में बाधा डालने वालों पर कानूनी कार्रवाई करने का मन बना लिया है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS