ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी में बलआ के राज मार्केट स्थित दवा दुकानदार की अपराधियों ने रात्रि में गोली मार हत्या कीरक्सौल के ई. कुंदन श्रीवास्तव ने आर्थिक मदद कर सत्याग्रह ट्रेन से आये यात्रियों को दिया भोजन का पैकेटझारखंड में बिहार सहित अन्य राज्यों से आनेवाली बस की एंट्री नहीं, निजी वाहनों को भी लेना होगा ई-पासमोतिहारी के कोटवा में ट्रक व कार में भीषण टक्कर, एक की मौत चार अन्य घायल, दो की स्थित गंभीरबिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जान
किशनगंज
एएमयू सेन्टर कोई चुनावी मुद्दा नहीं, जनता की मांग :अख्तरूल
By Deshwani | Publish Date: 26/12/2017 6:23:08 PM
एएमयू सेन्टर कोई चुनावी मुद्दा नहीं, जनता की मांग :अख्तरूल

किशनगंज, (हि.स.)। जिले में प्रस्तावित एएमयू सेन्टर कोई राज्य या केन्द्र सरकार के चुनावी मौसम का मुद्दा नहीं। किशनगंज में एएमयू सेन्टर की स्थापना कराने की कसमें खाई है इसीलिए वर्ष 2010 में तत्कालीन यूपीए सरकार सहित हमलोगों ने विराट आन्दोलन कर बिहार सरकार को एएमयू सेन्टर के लिए भूमि आवंटन कराया था, ताकि जिले में अकलियतों का शैक्षणिक विकास हो सके । यह बातें एआईएमआईएम प्रदेश अध्यक्ष अख्तरूल इमान ने मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत में कही।


उन्होंने कहा कि एएमयू सेन्टर की स्थापना के लिए चकला में एएमयू के आवंटित भूमि पर पूर्व यूपीए सरकार की चेयरमैन सोनिया गांधी ने शिलान्यास कर निर्माण के लिए फण्ड आवंटित करने का वादा किया था जो चुनावी मुद्दा नहीं था मगर आज तक मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा एएमयू के निर्माण में फण्ड आवंटित नहीं हो सका है और अब केन्द्र की मोदी सरकार में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की टीम ने पिछले दिनों एएमयू सेन्टर का दौरा करने के बाद इस सेन्टर को बंद करने या किसी विश्वविद्यालय से टैग करने सुझाव दिया है।


इस मामले को लेकर ही एआईएमआईएम प्रदेश अध्यक्ष इमान ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि यह कतई उचित नहीं है। यदि ऐसा हुआ या होने पहले ही केन्द्र व राज्य सरकार यह जान ले कि एएमयू सेन्टर सीमांचल वासियों का एक सपना है, इसीलिए केन्द्र सरकार को गुजरात में पार्टी दार आन्दोलन की याद ताजा कर लें । उससे भी बड़ा आन्दोलन सीमांचल वासियों का होगा और एएमयू सेन्टर को स्थापित करा कर रहेंगे।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS