ब्रेकिंग न्यूज़
'डॉक्टरों' ने नवजात की लिंग काट कर दी ‘हत्या’, जांच के आदेशदुष्कर्म के दोषी आसाराम को अभी भी उनके अंधभक्त मान रहे पाक साफ, कर रहे हवनदुल्हन ने शादी मंडप में शादी करने से किया इनकार, दूल्हे की दिमागी हालत खराबबिहार सरकार जल्द करें गन्ना किसानों के बकाया का भुगतान : हाइकोर्टनाबालिग से बलात्कार के मामले आसाराम को उम्रकैद, बाकी दोषियों को 20-20 साल की सजाकुत्तों-बंदरों से परेशान हुआ एम्स के डॉक्टर और मरीज, मेनका गांधी को लिखा पत्रमोदी-माल्या पर शिकंजा कसेगी ईडी, संपत्ति कुर्क करने के लिए नए अध्यादेश की तैयारीकर्नाटक चुनाव: जदयू ने जारी की दूसरी लिस्ट, 12 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा
खुंटी
शव दफनाने को लेकर विवाद, पुलिस को करना पड़ा हस्तक्षेप
By Deshwani | Publish Date: 31/7/2017 3:25:59 PM
शव दफनाने को लेकर विवाद, पुलिस को करना पड़ा हस्तक्षेप

खूंटी , (हि.स.)| तोरपा थाना के डांड़टोली में सोमवार को शव दफनाने को लेकर विवाद हो गया। पुलिस के हस्तक्षेप के बाद शव को मिट्टी दी जा सकी। जानकारी के अनुसार गांव के पुजारी कैलाश पाहन की रविवार की रात इलाज के क्रम में मौत हो गयी। सोमवार को जब उसके परिजन शव को दफनाने के लिए पुराने कब्रिस्तान में गड्ढा खोदने लगे तो बड़काटोली की हीरामणि देवी ने उस जमीन पर मालिकाना हक बताते हुए गड्ढा खोदने से रोक दिया और तोरपा थाना को इसकी सूचना दी।
हीरामणि के अनुसार वे चार बहन हैं। कोई भाई न होने के कारण उसके पिता ने चारों बहनों के नाम जमीन लिख दी। डांड़टोली में सड़क किनारे उसकी 81 डिसमिल जमीन है। इसमें कब्रिस्तान के लिए तीन डिसमिल जमीन दे दी है। अब गांव वाले कब्रिस्तान के क्षेत्र से बाहर शव दफनाना चाहते हैं। इधर ग्रामीणों का कहना है कि वर्षों से वे इस जमीन का उपयोग शव दफनाने में करते आ रहे हैं। पुलिस के हस्तक्षेप के बाद शव को दफनाया गया।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS