ब्रेकिंग न्यूज़
धार्मिक कार्यक्रम में जा रहे हजारों भारतीयों को नेपाल ने करोना वायरस की आशंका से गुरुवार की रात्रि रोका, वार्ता के बाद आज मिली एन्ट्रीपुलवामा हमले के शहीदों को राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने दी श्रद्धांजलिआगर- लखनऊ एक्सप्रेस वे पर मोतिहारी की बस की भीषण दुर्घटना में मृतकों के नाम फिरोजाबाद प्रशासन ने मोतिहारी एसपी को पत्र लिखकर दिएरक्सौल में लुधियाना की नाबालिक लड़की को प्रेम जाल में फंसा कर विवाह करने के आरोप में एक युवक गिरफ्तारऔरंगाबाद में 9वी की छात्रा की हत्या, छात्रा का शव उसके ही क्लास रूम में मिलाभारत को हराकर पहली बार बांग्लादेश ने अंडर-19 क्रिकेट विश्वकप जीतापटना के गांधी मैदान से सटे इलाके में ब्लास्ट होने से करीब आधा दर्जन लोग घायलजविपा सुप्रीमो अनिल कुमार ने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा बनाई मानव श्रृंखला पर मांगा श्‍वेत पत्र
कटिहार
आंदोलन कर रहे विस्थापितों पर पुलिस ने बरसायीं लाठियां, दर्जनों घायल
By Deshwani | Publish Date: 31/5/2018 8:52:14 PM
आंदोलन कर रहे विस्थापितों पर पुलिस ने बरसायीं लाठियां, दर्जनों घायल

 कटिहार।  बिहार के कटिहार में पुर्नवास की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे विस्थापितों पर पुलिस ने गुरुवार को जमकर लाठियां भांजी।  जिसमें तकरीबन आधा दर्जन आंदोलनकारी घायल हो गये।  जिसमें एक महिला की स्थिति नाजुक बनी हुई है।  जबकि, आंदोलन की अगुवाई कर रहे विक्टर झा, एएम हक सहित एक अन्य को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।  समाहरणालय के आसपास प्रशासन ने धारा 144 लागू कर दिया है। 

 
गौरतलब हो कि पुर्नवास संघर्ष समिति के बैनर तले बुधवार को जेल भरो आंदोलन के तहत विक्टर झा के नेतृत्व में हजारों की संख्या में विस्थापितों ने समाहरणालय का घेराव किया था।  पूरे दिन व पूरी रात विस्थापित परिवार समाहरणालय का घेराव कर डटे रहे।  आरोप है कि जिला प्रशासन ने समाहरणालय के आसपास की बिजली रात को कटवा दी।  इससे हजारों महिला, पुरुष व बच्चे अंधेरे में पूरी रात गुजारने को विवश हुए।  यहीं नहीं, आसपास के होटल, नास्ता सहित अन्य दुकानों को भी जबरन बंद करा दिया।  इससे आक्रोशित आंदोलनकारियों ने गुरुवार की सुबह से जिला प्रशासन के विरोध में जमकर नारेबाजी कर रहे थे। 
 
इसी बीच दोपहर में एक महिला प्रदर्शनकारी को पुलिस ने किसी बात पर पिटाई कर दी।  इसके बाद प्रदर्शनकारियों का गुस्सा भड़क गया।  धरने पर बैठे सभी प्रदर्शनकारियों ने वहां से उठ कर कटिहार-कोढ़ा मुख्य मार्ग को जाम कर पुलिस, प्रशासन के विरोध में जमकर नारेबाजी करने लगे।  इस दौरान आंदोलनकारियों ने एसडीओ गेट, समाहरणालय के गेट को भी पूरी तरह से जाम कर दिया।  
 
इस बीच एसडीओ नीरज कुमार, एसडीपीओ अनिल कुमार सहित अन्य अधिकारी पुलिस दल बल के साथ एसडीओ गेट के पास पहुंचे तथा मुख्य गेट को खुलवाने में जुट गये।  इस दरम्यान पुलिस व आंदोलनकारियों में काफी बहस व धक्का-मुक्की होने लगी।  उसके बाद सभी आंदोलनकारी एसडीओ गेट को खाली कर पुन: समाहरणालय गेट पर बढ़ने लगे। जिस क्रम में पीछे से पुलिस आंदोलनकारियों को धकेलकर जगह खाली कराने का निर्देश देते रहे।  जब दोनों ओर से बहस व धक्का-मुक्की हुई तो अंतत: पुलिस ने लाठियां भांजनी शुरू कर दी।  इसमें विक्टर झा सहित आधा दर्जन लोग घायल हो गये।  साथ ही दर्जनों लोग पुलिस के लाठी से चोटिल होने के बाद इधर उधर भागते दिखे। 
 
लोगों का आरोप है कि पुलिस ने खदेड़-खदेड़ कर आंदोलनकारियों को पीटा। इसमें एक महिला पुतूल देवी गंभीर रूप से घायल हो गयी। इसे जिला प्रशासन ने इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया। जहां चिकित्सक ने उसकी नाजुक स्थिति को देखते हुए उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया। इधर पुलिस ने संस्थापक विक्टर झा, एमआर हक सहित अन्य लोगों को हिरासत में लिया है।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS