ब्रेकिंग न्यूज़
धार्मिक कार्यक्रम में जा रहे हजारों भारतीयों को नेपाल ने करोना वायरस की आशंका से गुरुवार की रात्रि रोका, वार्ता के बाद आज मिली एन्ट्रीपुलवामा हमले के शहीदों को राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने दी श्रद्धांजलिआगर- लखनऊ एक्सप्रेस वे पर मोतिहारी की बस की भीषण दुर्घटना में मृतकों के नाम फिरोजाबाद प्रशासन ने मोतिहारी एसपी को पत्र लिखकर दिएरक्सौल में लुधियाना की नाबालिक लड़की को प्रेम जाल में फंसा कर विवाह करने के आरोप में एक युवक गिरफ्तारऔरंगाबाद में 9वी की छात्रा की हत्या, छात्रा का शव उसके ही क्लास रूम में मिलाभारत को हराकर पहली बार बांग्लादेश ने अंडर-19 क्रिकेट विश्वकप जीतापटना के गांधी मैदान से सटे इलाके में ब्लास्ट होने से करीब आधा दर्जन लोग घायलजविपा सुप्रीमो अनिल कुमार ने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा बनाई मानव श्रृंखला पर मांगा श्‍वेत पत्र
कटिहार
हरिजन पाठशाला के जीर्णोद्धार के लिए जिला पदाधिकारी ने दिए दिशा निर्देश
By Deshwani | Publish Date: 9/2/2018 4:45:35 PM
हरिजन पाठशाला के जीर्णोद्धार के लिए जिला पदाधिकारी ने दिए दिशा निर्देश

 कटिहार । शहर के डा. राजेन्द्र प्रसाद पथ स्थित प्राथमिक विद्यालय हरिजन पाठशाला आजादी के बाद भी बुनियादी सुविधाओं से वंचित है। शुक्रवार को जिला पदाधिकारी मिथिलेश मिश्र ने विद्यालय का निरीक्षण कर एक सप्ताह के अंदर विद्यालय के जीर्णोद्धार के लिए मौके पर मौजूद पदाधिकारी को दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यह पाठशाला ऐतिहासिक दृष्टिकोण से बहुत ही महत्वपूर्ण है। यह अफ़सोस की बात है कि 84 वर्ष बीत जाने के वावजूद विद्यालय में जो बुनियादी सुविधाएं बहुत कम हैं । यहॉ कुल 61 बच्चे नामांकित हैं लेकिन बच्चों की अमूनन उपस्थिति 15-20 की होती है। इस दिशा में शिक्षा विभाग को इसमें पहल करनी पड़ेगी कि यहाँ जो भी नामांकित बच्चे हैं वो स्कूल आयें । उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि इस विद्यालय में नामांकित बच्चे अगर प्राइवेट स्कूल में पढ़ते हैं तो उसकी नाम यह से कटनी चाहिए। जिला पदाधिकारी ने विद्यालय में शौचालय निर्माण और पेयजल की व्यवस्था एक सप्ताह के अंदर सुनिश्चित करने का निर्देश भी मौके पर मौजूद अधिकारियों को दिया। नगर निगम के वार्ड कमिश्नर की अध्यक्षता में बच्चों के अविभावक की बैठक बुलाकर विद्यालय में शत प्रतिशत बच्चों की उपस्थिति सुनिश्चित करने का निर्देश विद्यालय के प्रभारी शिक्षिका चंचलता दास को दिया गया । 

विदित हो कि 1934 में भीषण भूकंप के बाद महात्मा गांधी बिहार दौरे के क्रम में कटिहार आये थे। उसी वक्त उन्होंने इस विद्यालय की नींव रखी थी। इसकी स्थापना महात्मा गांधी ने आजादी के पहले लोगों में शिक्षा की अलख जगाने के लिए की थी, ताकि लोग शिक्षित होकर अंग्रेजों की गुलामी से अपने देश को आजाद कर सके। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS