ब्रेकिंग न्यूज़
नेपाल पुलिस ने प्याज की कालाबाजारी करने के आरोप में एक को किया गिरफ्तारमोतिहारी: लायंस कपल क्लब का पदस्थापना समारोह सम्पन्ननिलंबन के खिलाफ 8 विपक्षी सांसद धरने पर बैठे, हंगामे के कारण राज्यसभा की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगितप्रधानमंत्री मोदी का बिहार को सौगात- पटना व भागलपुर में दो बड़े पुल, ग्रामीण क्षेत्रों में तेज इंटरनेट ...और भी बहुत कुछपड़ोसी देश मालदीव की मदद के लिए भारत ने बढ़ाया हाथ, 25 करोड़ डॉलर की आर्थिक सहायता दीकोरोना काल में 6 महीने तक बंद रहने के बाद खुला ताज महल, चीनी टूरिस्ट ने किया सबसे पहले दीदारकेरल के एर्नाकुलम की खदान में भयंकर विस्फोट, दो मजदूरों की मौतCOVID-19: भारत में पिछले 24 घंटे में दर्ज हुए 86,961 नए केस, कोरोनावायरस से 1,130 की मौत
कटिहार
हरिजन पाठशाला के जीर्णोद्धार के लिए जिला पदाधिकारी ने दिए दिशा निर्देश
By Deshwani | Publish Date: 9/2/2018 4:45:35 PM
हरिजन पाठशाला के जीर्णोद्धार के लिए जिला पदाधिकारी ने दिए दिशा निर्देश

 कटिहार । शहर के डा. राजेन्द्र प्रसाद पथ स्थित प्राथमिक विद्यालय हरिजन पाठशाला आजादी के बाद भी बुनियादी सुविधाओं से वंचित है। शुक्रवार को जिला पदाधिकारी मिथिलेश मिश्र ने विद्यालय का निरीक्षण कर एक सप्ताह के अंदर विद्यालय के जीर्णोद्धार के लिए मौके पर मौजूद पदाधिकारी को दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यह पाठशाला ऐतिहासिक दृष्टिकोण से बहुत ही महत्वपूर्ण है। यह अफ़सोस की बात है कि 84 वर्ष बीत जाने के वावजूद विद्यालय में जो बुनियादी सुविधाएं बहुत कम हैं । यहॉ कुल 61 बच्चे नामांकित हैं लेकिन बच्चों की अमूनन उपस्थिति 15-20 की होती है। इस दिशा में शिक्षा विभाग को इसमें पहल करनी पड़ेगी कि यहाँ जो भी नामांकित बच्चे हैं वो स्कूल आयें । उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि इस विद्यालय में नामांकित बच्चे अगर प्राइवेट स्कूल में पढ़ते हैं तो उसकी नाम यह से कटनी चाहिए। जिला पदाधिकारी ने विद्यालय में शौचालय निर्माण और पेयजल की व्यवस्था एक सप्ताह के अंदर सुनिश्चित करने का निर्देश भी मौके पर मौजूद अधिकारियों को दिया। नगर निगम के वार्ड कमिश्नर की अध्यक्षता में बच्चों के अविभावक की बैठक बुलाकर विद्यालय में शत प्रतिशत बच्चों की उपस्थिति सुनिश्चित करने का निर्देश विद्यालय के प्रभारी शिक्षिका चंचलता दास को दिया गया । 

विदित हो कि 1934 में भीषण भूकंप के बाद महात्मा गांधी बिहार दौरे के क्रम में कटिहार आये थे। उसी वक्त उन्होंने इस विद्यालय की नींव रखी थी। इसकी स्थापना महात्मा गांधी ने आजादी के पहले लोगों में शिक्षा की अलख जगाने के लिए की थी, ताकि लोग शिक्षित होकर अंग्रेजों की गुलामी से अपने देश को आजाद कर सके। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS