ब्रेकिंग न्यूज़
आईएसआईएस के इशारे पर सात महीनों से कश्‍मीर में आतंकी हमले करा रहा था 'दाऊद'मुशर्रफ ने एपीएमएल प्रमुख पद से दिया इस्तीफासामने आई युवकों को गले लगकर ईद की बधाई देने वाली युवती, बोली-'पब्लिसिटी के लिए नहीं किया'यूपी में महागठबंधन पर फंसा पेंच, कांग्रेस ने सभी 80 लोकसभा सीटों पर लड‍़ने को कसी कमरपाकिस्तान से आए 90 हिंदुओं को मिली भारतीय नागरिकता, बताई आपबीतीगुजरात में नौवीं कक्षा के छात्र का शव बाथरूम से बरामद, जांच में जुटी पुलिसतेंडुलकर ने कहा, वनडे में दो गेंदों का उपयोग नाकामी को न्योता देना जैसाकांग्रेस ने पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव का फूंका बिगुल, गठित की स्क्रीनिंग कमेटी
कटिहार
कटिहार जिले में बच्चे पढ़ाई की जगह करते हैं स्कूल की सफाई
By Deshwani | Publish Date: 3/8/2017 3:50:46 PM
कटिहार जिले में बच्चे पढ़ाई की जगह करते हैं स्कूल की सफाई

कटिहार, (हि.स.)। कटिहार जिले के प्राथमिक एवं मध्य विद्यालयों में मासूम बच्चों से स्कूल सफाई का काम बेझिझक कराया जा रहा है। शिक्षकों द्वारा विद्यालय में बच्चों से सफाई करवाने को लेकर जिला शिक्षा विभाग से कई बार शिकायत भी की गई है इसके बावजूद शिक्षा महकमा कुम्भकर्णी निंद्रा में सोया हुआ है। 
जिले के डंडखोरा प्रखण्ड अंतर्गत उत्क्रमित मध्य विद्यालय सकरैली में मासूम बच्चों से झाड़ू लगवा रहे कक्षा चार के शिक्षक संजीव कुमार से हिन्दुस्थान समाचार के संवाददाता ने जानना चाहा कि बच्चों से झाड़ू क्यों लगवाया जा रहा तो उन्होंने बेझिझक कहा कि बच्चे झाड़ू नही लगाएंगे तो कौन लगायेगा। इस बाबत गुरुवार को जिला शिक्षा पदाधिकारी कटिहार, दिनेश चन्द्र देव ने बताया कि जिले के विद्यालयों में सफाई कर्मियों की बहाली नही है, और ये जरूरी नहीं है कि विद्यालय में सिर्फ बच्चे ही स्कूल में झाड़ू लगाएंगे। 
अगर विद्यालयों में मासूम बच्चों के हाथ में कलम किताब की जगह शिक्षक झाड़ू पकड़ा दें तो इससे दुर्भाग्यपूर्ण और क्या हो सकता है। बच्चे शिक्षकों की वजह से रोज सुबह विद्यालय में झाड़ू पकड़ने को मजबूर हैं।
 
बहरहाल, शिक्षक व शिक्षा विभाग नैतिकता को ताक पर रख मासूम छात्र व छात्राओं से रोजाना विद्यालय में झाड़ू लगवाने का काम करा रहे हैं। इसके बावजूद ना तो प्रशासन ओर ना ही शिक्षा महकमा इस अनैतिक कृत्य को लेकर गंभीर है। सरकार शिक्षा के नाम पर करोड़ों का खर्च कर रही है। इसके बावजूद बच्चे स्कूल की सफाई करने को मजबूर है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS