ब्रेकिंग न्यूज़
पूर्वी चंपारण के कई इलाकों में बेमौसम बारिश और बर्फबारी होने से बढ़ी ठंड, दिखा शिमला जैसा नजाराबेतिया में मूर्छितावस्था में अधमरी महिला मिली, ग्रामीणों ने मझौलिया पीएचसी में कराया भर्ती करायासाबरमती आश्रम में राष्ट्रपति ट्रंप ने पत्नी मेलानिया के साथ चरखा चलाकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित कीचीन से कच्चे माल की आपूर्ति में व्यवधान के संबंध में वित्त मंत्री ने उच्च स्तरीय बैठक बुलाईजम्मू-कश्मीर में पंचायत उपचुनाव सुरक्षा मुद्दों और क्षेत्रीय राजनीतिक दलों की अनिच्छा के कारण स्थगितअशरफ गनी अफगानिस्तान के नए राष्ट्रपति चुने गएबिहार के गया में कोरोना वायरस के एक संदिग्ध मरीज को देखरेख के लिए अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में कराया गया भर्तीऔरंगाबाद में रफीगंज-शिवगंज पथ पर तेज रफ्तार ट्रक ने ऑटो में मारी टक्कर, दो मासूमों सहित 10 लोगों की मौत
कटिहार
कटिहार अंडरपास मार्ग में जलभराव से बढ़ी दिक्कत
By Deshwani | Publish Date: 25/7/2017 12:15:24 PM
कटिहार अंडरपास मार्ग में जलभराव से बढ़ी दिक्कत

कटिहार, (हि.स.)। कटिहार रेलमण्डल के कटिहार जिला अन्तर्गत मानव यातायात के लिए प्रयुक्त रेलवे फाटक की जगह बने विभिन्न अंडरपास मार्ग में बारिश के मौसम में एक से डेढ़ फुट जल जमाव हो जाने की वजह से आने-जाने वाले लोगों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। 
करोड़ों की लागत से बनाये गए इस रेलवे अंडरपास मार्ग में जल निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है। कटिहार रेल क्षेत्र के किसान चौक बथना, हफलागंज रघुनी चक, मरंगी घासी टोला एवं कजरा सहित विभिन्न रेलवे ट्रेक के नीचे बनाये गये अंडरपास होकर लोगों का आना-जाना मुहाल हो गया है। 
इस अंडर पास में जलजमाव व कीचड़ के कारण साल के तीन चार महीने ही आवागमन के लायक रहता है। अंडरपास मार्ग होकर गुजरने वाले राहगीरों का कहना है कि इससे बेहतर तो रेलवे फाटक ही था। ट्रेन गुजरते समय थोड़ी देर के लिए कभी कभी इंतजार करना पड़ता था। लेकिन वह इस रास्ते से बेहतर था। इस समस्या को लेकर कई बार स्थानीय स्तर पर लोगों ने रेल प्रशासन से शिकायत की। लेकिन रेलवे प्रशासन के द्वारा आश्वासन के अलावा आज तक कोई ठोस समाधान नहीं हुआ।
अंडरपास मार्ग होकर पैदल आने जाने वालों के लिए बनाया गया रैंप भी काफी कमजोर है और इससे होकर साइकिल समेत बाइक सवार भी जान के लिए मजबूर होते हैं। इस बाबत कटिहार रेलमंडल के सीनियर डीईएन राजवीर सिंह ने बताया कि ऐसे अंडरपास मार्ग में वॉटर पंपिंग की व्यवस्था की जाती है। अगर ऐसा नहीं हुआ है तो विभागीय जांच करवा कर संबंधित एजेंसी पर उचित कार्रवाई की जाएगी। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS