ब्रेकिंग न्यूज़
पूर्वी चंपारण के कई इलाकों में बेमौसम बारिश और बर्फबारी होने से बढ़ी ठंड, दिखा शिमला जैसा नजाराबेतिया में मूर्छितावस्था में अधमरी महिला मिली, ग्रामीणों ने मझौलिया पीएचसी में कराया भर्ती करायासाबरमती आश्रम में राष्ट्रपति ट्रंप ने पत्नी मेलानिया के साथ चरखा चलाकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित कीचीन से कच्चे माल की आपूर्ति में व्यवधान के संबंध में वित्त मंत्री ने उच्च स्तरीय बैठक बुलाईजम्मू-कश्मीर में पंचायत उपचुनाव सुरक्षा मुद्दों और क्षेत्रीय राजनीतिक दलों की अनिच्छा के कारण स्थगितअशरफ गनी अफगानिस्तान के नए राष्ट्रपति चुने गएबिहार के गया में कोरोना वायरस के एक संदिग्ध मरीज को देखरेख के लिए अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में कराया गया भर्तीऔरंगाबाद में रफीगंज-शिवगंज पथ पर तेज रफ्तार ट्रक ने ऑटो में मारी टक्कर, दो मासूमों सहित 10 लोगों की मौत
झारखंड
झारखंड हाईकोर्ट के कार्यवाहक चीफ जस्टिस प्रशांत कुमार का निधन, मुख्यमंत्री दास ने जताई संवेदना
By Deshwani | Publish Date: 30/8/2019 11:34:01 AM
झारखंड हाईकोर्ट के कार्यवाहक चीफ जस्टिस प्रशांत कुमार का निधन, मुख्यमंत्री दास ने जताई संवेदना

रांची। झारखंड हाईकोर्ट के जस्टिस प्रशांत कुमार का निधन आज सुबह रांची के मेडिका अस्पताल में हो गया। वह 61 वर्ष के थे। उनके निधन से न्यायिक अधिकारियों में शोक की लहर है।  जस्टिस प्रशांत कुमार का पार्थिव शरीर अंतिम दर्शन के लिए 2:30 बजे हाईकोर्ट में लाया जाएगा। उनके निधन की सूचना मिलते ही हाईकोर्ट के कई जज और अधिकारी अस्पताल पहुंचे और उन्हें श्रद्धांजलि दी।

 
मुख्‍यमंत्री रघुवर दास ने दिवंगत जस्टिस प्रशांत कुमार के निधन पर दुख जताया है। उन्‍होंने अपने संदेश में कहा - झारखंड उच्च न्यायालय के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश प्रशांत कुमार जी के निधन पर मेरी संवेदनाएं। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति दे तथा शोक संतप्त परिजनों को दुःख की इस घड़ी में संबल प्रदान करे।
 
जस्टिस प्रशांत कुमार उत्‍तर प्रदेश के बलिया जिले के बैरिया थाना के गुहियां छपरा के रहने वाले थे। उनका जन्म एक जुलाई, 1958 को हुआ था। उनकी प्रारंभिक शिक्षा छपरा, बिहार के विशेश्वर सेमिनरी स्कूल में हुई थी। वह एक अक्टूबर 1980 को एक अधिवक्ता के रूप में बिहार राज्य बार काउंसिल से जुड़े थे। उन्होंने वकील के तौर पर पटना हाईकोर्ट में लंबे समय तक प्रैक्टिस की थी। वह पटना हाईकोर्ट के रांची बेंच में भी 1980 से लेकर 1991 तक संवैधानिक और सेवाओं से जुड़े मामले देखते रहे। 
 
इसी वर्ष प्रशांत कुमार ने झारखंड हाईकोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश का पद संभाला था। हाईकोर्ट में सबसे वरीय होने के कारण उन्हें झारखंड हाईकोर्ट का कार्यवाहक चीफ जस्टिस बनाया गया था। इससे पहले 21 जनवरी, 2009 में जस्टिस प्रशांत कुमार ने झारखंड हाईकोर्ट के जज के रूप में योगदान दिया था। मई 2016 में झारखंड से उनका तबादला इलाहाबाद हाईकोर्ट में कर दिया गया। अपनी बीमारी का हवाला देते हुए उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के कॉलेजियम से झारखंड हाईकोर्ट तबादला करने की गुहार लगाई थी। इसके बाद फिर उन्हें झारखंड हाईकोर्ट में पदस्थापित किया गया।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS