ब्रेकिंग न्यूज़
2019 का ये आखिरी सत्र है, हम चाहते हैं सभी मुद्दों पर उत्तम संवाद हो: प्रधानमंत्री मोदीशीतकालीन सत्र: साइकिल से संसद भवन पहुंचे सांसद मनोज तिवारी, केजरीवाल सरकार के लिए कही ये बातसंदिग्ध अवस्था में युवक की मौत, पोस्टमार्टम के बाद ही पता चलेगा वजहINX मीडिया केस: पी. चिदंबरम की जमानत याचिका पर 20 नवम्बर को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्टसंसद का शीतकालीन सत्र आज से शुरू, सुषमा और जेटली को दी गई श्रद्धांजलिदिल्‍ली में पेट्रोल पहुंचा 74 रुपये के पार, डीजल की कीमत स्थिरन्यायमूर्ति शरद अरविंद बोबडे ने ली 47वे चीफ जस्टिस पद की शपथसीतामढ़ी से जयपुर जा रही बस कुशीनगर में पलटी, बिहार के पांच लोगों की मौत; दर्जनों घायल
झारखंड
नदी से निकाली बीडीओ की कार, बाढ़ में बह गयी थी टाटा सुमो
By Deshwani | Publish Date: 8/7/2019 6:07:49 PM
नदी से निकाली बीडीओ की कार, बाढ़ में बह गयी थी टाटा सुमो

कुंदा। चतरा जिला के कुंदा प्रखंड की प्रखंड विकास पदाधिकारी सह अंचल अधिकारी कृतिबाला लकड़ा की कार को पुलिस ने आज ग्रामीणों व जेसीबी की मदद से नदी से बाहर निकाली। नदी में डूबे रहने से गाड़ी को काफी नुकसान हुआ है। गाड़ी में पानी व बालू घुस गया, जिसकी वजह से निकालने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। 

 
ज्ञात हो कि रविवार को ‘जल शक्ति अभियान’ में शामिल होने कुंदा जा रहीं कृतिबाला लकड़ा की कार उफनती चिलोई नदी में बह गयी थी। कुंदा और चतरा की सीमा पर स्थित इस नदी में कार के बहने से पहले ही बीडीओ, उनकी कार के ड्राइवर और कर्मचारी को ग्रामीण ने बाढ़ के पानी के पहुंचने से पहले किनारे पर ले गये थे।
 
 
बता दें कि चतरा से कुंदा जाने का यह सबसे छोटा मार्ग है। इसलिए अधिकतर लोग इसी रास्ते से कुंदा से चतरा और चतरा से कुंदा आना-जाना करते हैं। चतरा और कुंदा की सीमा पर पड़ने वाली इस नदी पर कोई पुल या पुलिया नहीं होने की वजह से लोग नदी पार करके ही कुंदा जाते हैं। इस रास्ते से चतरा और कुंदा की दूरी 35 किलोमीटर है, जबकि सड़क मार्ग से जोरी-प्रतापपुर होकर चतरा से कुंदा जाने के लिए करीब 60 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS