ब्रेकिंग न्यूज़
वरुण धवन के बाद फिल्म 'स्ट्रीट डांसर 3डी' के सेट पर घायल हुईं श्रद्धा कपूरट्रॉमा सेंटर की चौथी मंजिल से मां ने अपने शिशु को नीचे फेंका, मौतएयर इंडिया की परिचालन से बाहर 17 विमानों को अक्टूबर से पुन: उड़ाने की योजनाशेयर बाजार: सेंसेक्स, निफ्टी में लगातार चौथे कारोबारी सत्र में गिरावटदिल्ली से वाशिंगटन तक भारत ने बनाया दबाव, कश्मीर पर व्हाइट हाउस ने ट्रंप के बयान को पलटायोगी सरकार ने विधानसभा में पेश किया वित्तीय वर्ष 2019-2020 का पहला अनुपूरक बजटअखिलेश के दावे को रविकिशन ने किया खारिज, बोले-नहीं मिला यश भारती सम्मानदस एकड़ जमीन हथियाने के लिए चाचा ने करायी थी भतीजे की हत्या,पुलिस जांच में हुआ खुलासा
झारखंड
झारखंड मॉब लिंचिंग: तबरेज की पत्नी को 5 लाख रुपये और नौकरी देगा दिल्ली वक्फ बोर्ड
By Deshwani | Publish Date: 27/6/2019 6:44:41 PM
झारखंड मॉब लिंचिंग: तबरेज की पत्नी को 5 लाख रुपये और नौकरी देगा दिल्ली वक्फ बोर्ड

नयी दिल्ली/रांची। झारखंड में भीड़ हिंसा (मॉब लिंचिंग) का शिकार हुए शख्स की पत्नी को पांच लाख रुपये देने का वादा दिल्ली वक्फ बोर्ड ने किया है। बोर्ड के प्रमुख एवं आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्ला खान ने आज कहा कि झारखंड में भीड़ हिंसा का शिकार हुए 24 वर्षीय तबरेज अंसारी की पत्नी को बोर्ड पांच लाख रुपये और नौकरी देगा।

 
ज्ञात हो कि झारखंड के खरसावां सरायकेला जिले में पिछले बुधवार भीड़ ने चोरी के शक में अंसारी को खंभे के साथ कथित रूप से बांधकर लाठियों से पीटा था। बाद में चोट की वजह से शनिवार को उसकी मौत हो गयी थी। इस घटना के बाद एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें नजर आया कि उसे “जय श्री राम” और “जय हनुमान” के नारे लगाने पर मजबूर किया जा रहा है।
 
वक्फ बोर्ड के प्रमुख ने यह भी कहा कि वे अंसारी की पत्नी को कानूनी मदद हासिल करने में भी मदद करेंगे। उन्होंने कहा कि हम तबरेज की पत्नी को पांच लाख रुपये का चेक भेजने का प्रयास कर रहे हैं। मैं उन्हें यह चेक सौंपने के लिए वहां जा भी सकता हूं। हम उन्हें वक्फ बोर्ड में नौकरी भी देंगे और कानूनी मदद भी मुहैया कराएंगे।
 
गौर हो कि इस मामले में अब तक पांच लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि झारखंड में अंसारी की भीड़ द्वारा पीट-पीट कर हत्या किए जाने की घटना ने उन्हें दुखी किया है और दोषियों को कड़ी सजा दी जानी चाहिए लेकिन इस बात पर भी जोर दिया कि देश में हिंसा की सभी घटनाएं चाहे वे झारखंड में हो, बंगाल या केरल में, सभी के साथ समान तरीके से पेश आना चाहिए और कानून को अपना काम करना चाहिए।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS