ब्रेकिंग न्यूज़
अत्याधुनिक हथियार बरामदगी मामले में कोटवा निवासी कुख्यात कुणाल को आजीवन कारावास, 42 हजार रुपये का अर्थदंड भी मिलाइस बार का चुनाव मेरे लिए चुनाव है चुनौती नहीं: राधा मोहन सिंहMotihati: सांसद राधामोहन सिंह ने नामांकन दाखिल किया, कहा-मैं तो मोदी के मंदिर का पुजारीमोतिहारी के केसरिया से दो गिरफ्तार, लोकलमेड कट्टा व कारतूस जब्तभारतीय तट रक्षक जहाज समुद्र पहरेदार ब्रुनेई के मुआरा बंदरगाह पर पहुंचामोतिहारी निवासी तीन लाख के इनामी राहुल को दिल्ली स्पेशल ब्रांच की पुलिस ने मुठभेड़ करके दबोचापूर्व केन्द्रीय कृषि कल्याणमंत्री राधामोहन सिंह का बीजेपी से पूर्वी चम्पारण से टिकट कंफर्मपूर्व केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री सांसद राधामोहन सिंह विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे
झारखंड
जहरीली शराब से हुई मौतों के बाद अब झारखंड में उठने लगी पूर्ण शराबबंदी की मांग
By Deshwani | Publish Date: 3/10/2018 7:16:48 PM
जहरीली शराब से हुई मौतों के बाद अब झारखंड में उठने लगी पूर्ण शराबबंदी की मांग

रांची। रांची की हातमा बस्ती में जहरीली शराब पीने हुई 7 मौतों की वजह से अब बिहार की तर्ज पर झारखंड में भी पूर्ण शराबबंदी की मांग उठने शुरू हो गए है। राज्य सरकार में नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने आज खुले मंच से झारखंड में शराबबंदी की मांग की है।

 
मंत्री हातमा बस्ती में मातमपुर्सी के लिए आए थे। उन्होंने कहा कि इस तरह से हो रही मौतों को रोकने के लिए पूर्ण शराबबंदी ही एक मात्र समाधान है। यह पहला मौका है जब राज्य के किसी बड़े नेता ने राज्य में शराबबंदी की बड़ी बात कही है। पड़ोसी राज्य बिहार में शराबबंदी की वजह से झारखंड में शराब की बिक्री में काफी बढ़ोतरी हुई है। अब यह राज्य सरकार के राजस्व में आय का एक प्रमुख जरिया भी बन गई है।
 
ज्ञात हो कि हातमा बस्ती में जहरीली शराब पीने हुई 7 मौतों से दुखी लोगों को सांत्वना देने के लिए राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री और झाविमो सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी पहुंचे थे। उन्होंने लोगों से शराब का सेवन पूर्ण रूप से बंद करने की अपील भी की। बाबूलाल मरांडी ने भी राज्य में पूर्ण शराबबंदी की बात कही थी।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS