ब्रेकिंग न्यूज़
राफेल पर कांग्रेस के दुष्प्रचार का देश भर में पर्दाफाश करेगी भाजपामध्यप्रदेश: चुनाव से पहले शिवराज कैबिनेट की अहम बैठक, प्रदेश को मिलीं ये नई सौगातेंसलमान खान के इस गाने ने बना दिया रिकॉर्ड, बॉलीवुड में आज तक नहीं हुआ ऐसाबिजली संकट को लेकर धनबाद के लोगों ने सरकार के विरोध में खोला मोर्चायूपीः कुलदीप यादव गिरफ्तार, गरीब लोगों को धर्म परिवर्तन के लिए करता था प्रभावितलगातार हो रही बारिश और बर्फबारी से केदार घाटी में जनजीवन अस्त-व्यस्त, सैकड़ों यात्री फंसेतेजस्वी ने नीतीश सरकार पर साधा निशाना, कहा- बिहार में आम हो गया AK-47 हथियारपदमा शुक्ला हुई बागी, भाजपा का साथ छोड़ थामा कांग्रेस का हाथ
झारखंड
नहीं थम रहा है साइबर क्राइम, ठगी के शिकार हो रहे हैं लोग
By Deshwani | Publish Date: 13/9/2018 4:20:57 PM
नहीं थम रहा है साइबर क्राइम, ठगी के शिकार हो रहे हैं लोग

जमशेदपुर। जमशेदपुर में साइबर क्राइम कम का नाम नहीं ले रहा है। साइबर ठग लोगों को झांसे में लेकर उनकी कमाई उड़ा ले जा रहे हैं। पुलिस जांच का भरोसा देकर अनुसंधान करने की बात कहती है, लेकिन अधिकांश मामलों में ना तो पीड़ितों को न्याय मिल पाता है और ना ही अपराधी पकड़ में आते हैं।

 
मामला जमशेदपुर के बिस्टुपुर थाना क्षेत्र का है। साइबर ठग ने मारुति सुजुकी के स्थानीय डीलर पेबको मोटर्स का जाली चेक एसबीआई के शाखा प्रबंधक को वाट्सऐप पर भेजकर कंपनी के खाते से आठ लाख पैंतीस हजार रुपये की निकासी कर ली। सूत्रों के मुताबिक, ठग ने कंपनी के खाते से ना सिर्फ विभिन्न बैंकों में रुपये का ट्रांजेक्शन किया, बल्कि खरीदारी भी की। बिस्टुपुर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के शाखा प्रबंधक ने साइबर थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी है।
 
 
 
 
 
 
घटना की जानकारी देते हुए साइबर थाना के इंस्पेक्टर ने बताया कि बैंक मैनेजर द्वारा दर्ज प्राथमिकी के मुताबिक पेबको मोटर्स का खाता बैंक में है। बैंक के पूर्व प्रबंधक वेद प्रकाश के मोबाइल पर एक नंबर से कॉल आया। फोन करने वाले के मोबाइल नंबर का ट्रू-कॉलर मनोरंजन दास, निदेशक पेबको मोटर्स दिखा रहा था. फोन करने वाले व्यक्ति ने तत्काल कुछ रुपये दो कंपनी मेसर्स हील हार्डीजीन्स और मेसर्स आदर्श कुमार के खाते में डालने की बात कही और वाट्सएप पर कम्पनी का चेक भी भेजा। इसके बाद बैंक ने पैसे का ट्रांजेक्शन कर दिया, लेकिन कंपनी द्वारा बैंक को बिना जानकारी के पैसे खाता से निकलने पर बैंक सतर्क हुआ. ट्रांजेजशन पर रोक लगाने से पूर्व 8.35 लाख रुपये ट्रांसफर हो चुके थे। मामला दर्ज होने के बाद साइबर पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।
 
मामले की जांच में शहर की साइबर पुलिस के अलावा बैंक प्रबंधन ने भी जांच शुरू कर दी है। एसबीआई के प्रबंधक मोहम्मद इम्तियाज करीम ने बताया कि मामले में प्राथमिकी दर्ज करवा दी गई है, बैंक प्रबंधन भी अपने स्तर से जांच में जुटा है।
 
बहरहाल, साइबर क्राइम से जुड़ी इस नई वारदात के उद्भेदन में पुलिस जुट गई है. पुलिस बैंक के अधिकारियों से तमाम बिंदुओं पर पूछताछ कर असल अपराधी की शिनाख्त कर गिरफ्तारी के प्रयास में लगी है.
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS