ब्रेकिंग न्यूज़
अत्याधुनिक हथियार बरामदगी मामले में कोटवा निवासी कुख्यात कुणाल को आजीवन कारावास, 42 हजार रुपये का अर्थदंड भी मिलाइस बार का चुनाव मेरे लिए चुनाव है चुनौती नहीं: राधा मोहन सिंहMotihati: सांसद राधामोहन सिंह ने नामांकन दाखिल किया, कहा-मैं तो मोदी के मंदिर का पुजारीमोतिहारी के केसरिया से दो गिरफ्तार, लोकलमेड कट्टा व कारतूस जब्तभारतीय तट रक्षक जहाज समुद्र पहरेदार ब्रुनेई के मुआरा बंदरगाह पर पहुंचामोतिहारी निवासी तीन लाख के इनामी राहुल को दिल्ली स्पेशल ब्रांच की पुलिस ने मुठभेड़ करके दबोचापूर्व केन्द्रीय कृषि कल्याणमंत्री राधामोहन सिंह का बीजेपी से पूर्वी चम्पारण से टिकट कंफर्मपूर्व केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री सांसद राधामोहन सिंह विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे
झारखंड
केसरिया रंग में डूबा बाबा बैद्यनाथ का प्रांगण, श्रद्धालुओं ने किया जलाभिषेक
By Deshwani | Publish Date: 21/8/2018 1:17:49 PM
केसरिया रंग में डूबा बाबा बैद्यनाथ का प्रांगण, श्रद्धालुओं ने किया जलाभिषेक

देवघर। बाबा का नगरी है दूर, जाना है जरूर वाली कहावत एक बार फिर कल देखने को मिला। सावन की आखिरी सोमवारी पर बाबा के नगरी के नाम से मशहूर बैद्यनाथ धाम में बाबा भोले पर जलाभिषेक करने के लिए श्रद्धालुओं का भीड़ उमड़ पड़ी। पूरे बाबा नगरी में बोलबम की गूंज से देवघर का कण-कण शिवमय हो गया। रविवार देर रात से भक्तों के आने का सिलसिला कल रात आठ बजे थमा। मंदिर का कपाट बंद होने तक तकरीबन ढ़ाई लाख श्रद्धालुओं ने बाबा बैद्यनाथ का जलाभिषेक किया। मंदिर प्रांगण सुबह से ही केसरिया रंग में डूबा रहा। द्वादश ज्योतिर्लिंग में एक रावणेश्वर बैद्यनाथ की प्रात:कालीन पूजा के लिए तीन बजे मुख्य दरवाजा खुलने से पहले कांवरियों का मंदिर प्रांगण में आने का सिलसिला शुरू हो गया। सुबह 3:39 पर आम भक्तों के लिए पट खोला गया, इससे पहले गर्भगृह के समक्ष अरघा लगा दिया गया।

इधर, प्रांगण में रखे बाह्य अरघा में जलार्पण को अचानक भीड़ उमड़ पड़ी। पुलिस को इसे व्यवस्थित करने में काफी प्रयास करना पड़ा। बाह्य अरघा की कतार भी लंबी थी एक लाख भक्तों ने इस अरघा में जलार्पण किया। सरदार पंडा गुलाबनंद ओझा ने सुबह की पूजा किया। इसके बाद दिनभर अनवरत जलार्पण चलता रहा। चौथे सोमवार को भी कतार अंतिम प्वाइंट कुमैठा स्पोर्टस कांप्लेक्स पहुंचा। यहां एक बड़ा होल्डिंग प्वाइंट बनाया गया है। जो भीड़ को नियंत्रित करने में काफी मददगार हुआ।

 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS