ब्रेकिंग न्यूज़
दिग्‍व‍िजय भोपाल से लड़ेंगे लोकसभा चुनाव, 30 साल से यहां जीत नहीं पाई है कांग्रेसराम मनोहर लोहिया का जिक्र कर प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर साधा निशानासुरक्षाबलों को सर्च अभियान के दौरान मिली सफलता, भारी मात्रा में विस्फोटक और हथियार बरामदहाइवा की चपेट में आने से युवक की मौत, विरोध में लोगों ने किया सड़क जामकांग्रेस की सरकार आई तो दस दिन में किसान का कर्जा होगा माफ: राहुल गांधीआईपीएल 2019: आईपीएल के शुरुआती 6 मैचों में नहीं खेलेंगे लसिथ मलिंगा, सामने आई ये वजहमणिकर्णिका' के बाद कंगना का बड़ा धमाका, जयललिता की बायोपिक से जुड़ा नामकरमबीर सिंह होंगे अगले नौसेना प्रमुख, सुनील लांबा 31 मई को हो रहे हैं रिटायर
झारखंड
झारखंड में बांग्लादेशी घुसपैठिए पर अंकुश लगाने के मूड में सरकार
By Deshwani | Publish Date: 2/8/2018 11:31:21 AM
झारखंड में बांग्लादेशी घुसपैठिए पर अंकुश लगाने के मूड में सरकार

रांची। असम की तर्ज पर झारखंड के सीमावर्ती जिलों में बांग्लादेशी घुसपैठिए चिन्हित किए जाएंगे। इसके लिए राज्य सरकार ने केंद्र से अनुमति मांगी है। केंद्र सरकार से हरी झंडी मिलते ही बांग्लादेशी घुसपैठियों की गणना और उन्हें चिन्हित कर नेशनल सिटीजन रजिस्टर बनाने की कार्रवाई होगी।
दरअसल बड़ी संख्या में इनकी मौजूदगी ने पाकुड़, साहिबगंज, जामताड़ा और गोड्डा का सामाजिक-आर्थिक संतुलन बिगाड़ दिया है, जिसका सीधा असर स्थानीय लोगों पर पड़ रहा है। राजनीतिक संरक्षण की वजह से पड़ोसी मुल्क से घुसपैठ कर आने वाले लोगों ने तमाम सरकारी सुविधाएं भी हासिल कर ली हैं। वे यहां जमीनें भी खरीद रहे हैं। जाली नोट का कारोबार भी इसकी आड़ में फलफूल रहा है। जामताड़ा साइबर क्राइम का गढ़ बन रहा है। इन इलाकों में बांग्लादेश का आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश भी सक्रिय है।
इसके अलावा प्रतिबंधित पीएफआइ ने भी अपना जाल यहां फैला रखा है। इनके कई गुर्गो की गिरफ्तारी भी हो चुकी है। विशेष शाखा ने इनकी गतिविधियों के मद्देनजर राज्य सरकार को सतर्क भी किया है। पाकुड़ के पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र वर्णवाल कहते हैं-सरकार से निर्देश मिलते ही घुसपैठियों को चिन्हित करने की दिशा में पुलिस कार्रवाई आरंभ करेगी। यह आवश्यक भी है। जिला प्रशासन के साथ मिलकर पुलिस इसे अंजाम देगी।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS