ब्रेकिंग न्यूज़
अत्याधुनिक हथियार बरामदगी मामले में कोटवा निवासी कुख्यात कुणाल को आजीवन कारावास, 42 हजार रुपये का अर्थदंड भी मिलाइस बार का चुनाव मेरे लिए चुनाव है चुनौती नहीं: राधा मोहन सिंहMotihati: सांसद राधामोहन सिंह ने नामांकन दाखिल किया, कहा-मैं तो मोदी के मंदिर का पुजारीमोतिहारी के केसरिया से दो गिरफ्तार, लोकलमेड कट्टा व कारतूस जब्तभारतीय तट रक्षक जहाज समुद्र पहरेदार ब्रुनेई के मुआरा बंदरगाह पर पहुंचामोतिहारी निवासी तीन लाख के इनामी राहुल को दिल्ली स्पेशल ब्रांच की पुलिस ने मुठभेड़ करके दबोचापूर्व केन्द्रीय कृषि कल्याणमंत्री राधामोहन सिंह का बीजेपी से पूर्वी चम्पारण से टिकट कंफर्मपूर्व केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री सांसद राधामोहन सिंह विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे
झारखंड
बोड़ाम में पुलिस और ग्रामीणों में झड़प, सांसद और विधायक के हस्तक्षेप पर सुलझा मामला
By Deshwani | Publish Date: 13/4/2017 10:46:42 AM
बोड़ाम में पुलिस और ग्रामीणों में झड़प, सांसद और विधायक के हस्तक्षेप पर सुलझा मामला

जमशेदपुर। बोड़ाम थाना क्षेत्र में पोखरिया गांव में छेड़खानी के मामले मे बुधवार को देर रात तक हंगामा होता रहा। इस दौरान ग्रामीण और पुलिस के बीच झड़प भी हुई। वही दौरान पुलिस की ओर से 12 राउंड फायर भी किया गया लेकिन पुलिस इससे इनकार कर रही हैं। सांसद भी दिल्ली से सीधे देर रात बोड़ाम पहुंचे और स्थानीय विधायक के साथ बैठक कर मामला को सुलझाया। उसके बाद ग्रामीण अपने अपने घर लौटे।

छेड़खानी को लेकर हुई घटना
शहर से 70 किलोमीटर दूर पश्चिम बंगाल से सटे सीमा बोड़ाम थाना क्षेत्र मे पोखरिया गांव में मंगलवार की देर शाम को एक महिला ने विशेष समुदाय के 65 वर्षीय व्यक्ति पर छेड़खानी का आरोप लगाया था। इस घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने आरोपी के घऱ को जला दिया। वही आरोपी ग्रामीणो के डर से भाग गया और बुधवार की सुबह बोड़ाम थाना में जाकर आत्मसर्मपण कर दिया। 
इसके बाद पुलिस गांव से आठ लोगो को गिरफ्तार करके थाना ले आई। पुलिस जब दूसरे आरोपी को लाने बोड़ाम पुलिस पोखरिया गांव पहुंची तो पुलिस को ग्रामीणो ने बंधक बना लिया। पुलिस के बंधक बनाने के बाद जैसे ही बोड़ाम थाना प्रभारी विक्रांत कुमार और बीडीओ सुनील कुमार पुलिस बल के साथ पहुंचे तो ग्रामीणो ने उन्हे भी बंधक बना लिया। ग्रामीणो का कहना था कि पहले निर्दोष लोगो को छोड़ा जाए तो वह उन पुलिस पदाधिकारीयो को छोड़ेगे। पुलिस ने उनकी बात को मान ली और सभी युवको को छोड़ दिया गया। जैसे ही छोड़े गए युवक वापस आए तो ग्रामीणों को युवको ने बताया कि उसके साथ मारपीट की गई तो उसके बाद ग्रामीण उग्र हो गए और पुलिस पर पथराव शुरु कर दिया। इस दौरान पुलिस के द्वारा अपने बचाव मे फायरिंग भी की गई। ग्रामीणो के अनुसार पुलिस ने 12 राउंड गोली चलाई। हालाकि यह गोली किसी को लगी नही। बाद में ग्रामीणो ने मुख्यमार्ग को जाम कर दिया। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS