झारखंड
पुरी-जयनगर ट्रेन टाटा होकर चलाई जाये : मैथिली परिषद
By Deshwani | Publish Date: 28/2/2017 4:41:12 PM

जमशेदपुर, (हि.स.)। अंतरराष्ट्रीय मैथिली परिषद, जमशेदपुर ने रेल मंत्री से पुरी जयनगर ट्रेन को टाटानगर होकर चलाये जाने की मांग की है। रेल मंत्री को संबोधित पत्र में कहा गया है कि कोल्हान प्रमंडल क्षेत्र में सैकड़ों मैथिली भाषी वर्षों से रह रहे हैं। इनके लिए समस्तीपुर, दरभंगा और सहरसा जाने के लिए कोई सीधी ट्रेन नहीं है। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष ने नई दिल्ली से 13 जनवरी 2012 को ही पुरी दरभंगा ट्रेन नंबर 18419 को मिथिलांचल वासियों की सुविधा के लिए वाया टाटानगर होकर चलाने का फैसला किया था। 

यह जयनगर तक जा सकती थी। पर इस फैसले को अभी तक क्रियान्वित नहीं किया जा सका है। मैथिली परिषद का कहना है कि खड़गपुर से टाटानगर होकर आद्रा जाने में घाटशिला, टाटानगर और चांडिल ही ट्रेनों के ठहराव योग्य है। कोल्हान की लाइन पर आने से ट्रेन को मात्र 20-25 किलोमीटर का ही ज्यादा सफर करना होगा। लेकिन इससे लोगों की तेरह वर्ष पुरानी मांग पूरी होने के साथ रेलवे के राजस्व में भी बढ़ोत्तरी होगी। परिषद ने अपनी मांगों से संबंधित ज्ञापन मुख्यमंत्री रघुवर दास को सौंपा। मुख्यमंत्री ने उन्हें भरोसा दिलाया कि वे परिषद की मांगों को पूरा करने की रेल मंत्रालय को अनुशंसा करेंगे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS