ब्रेकिंग न्यूज़
असम: लगातार वर्षा के कारण 20 जिलों के दो लाख से अधिक लोग बाढ की चपेट मेंचकिया में दिनदहाड़े मोतिहारी के ठेकेदार को गोलियों से भूना, मौतप्रधानमंत्री ने कुशीनगर में महापरिनिर्वाण स्तूप में पूजा-अर्चना कीप्रधानमंत्री मोदी ने नेपाल के लुंबिनी में बुद्ध जयंती समारोह में भाग लियाविदेशमंत्री जयशंकर ने आज संयुक्त अरब अमारात के विदेशमंत्री की बातचीतबिहार: 3 आईपीएस अफसरों का ट्रांसफरराजीव चंद्रशेखर ने पूर्वोत्तर में पांच एनआईईएलआईटी केंद्रों का किया उद्घाटनमोतिहारी में नगर थाने से करीब 200 मीटर की दूरी पर गायत्रीमंदिर के पीछे दिनदहाड़े 30 वर्षीय युवक कुणाल सिंह की गोली मारकर हत्या
झारखंड
खऱखाई और स्वर्णरेखा का जलस्तर बढ़ा
By Deshwani | Publish Date: 24/7/2017 7:09:42 PM
खऱखाई और स्वर्णरेखा का जलस्तर बढ़ा

जमशेदपुर,  (हि.स.)। शहर में तीन दिनों से लगातार हो रहे मूसलाधार बारिश के कारण कई घरों में पानी घुस गया। सबसे खऱाब स्थिति बागबेड़ा, शास्त्रीनगर और मानगो की है। खरखाई नदी का जलस्तर बढ़ने के काऱण बागबेडा के साथ साथ शास्त्रीनगर के कई घरों मे देर रात से पानी प्रवेश कर गया है। उधर मानगो मे स्वर्णरेखा नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण मानगो के कई इलाकों में पानी प्रवेश किया है। बागबेड़ा के रहने वाले सुबोध झा ने बताया कि खऱखाई नदी का जलस्तर बढने से बागबेड़ा के लगभग 100-150 घर प्रभावित हुए है। उन्होने कहा कि इसकी सूचना स्थानीय प्रशासन को दे दी गई है। वही जिला प्रशासन की ओर बनाए गए राहत शिविर में जाकर लोग ठहर रहे है।

लगातार बारिश होने से एक बार फिर बामनगोड़ा - बारीगोड़ा सीमा पर पुलिया के ऊपर से पानी का बहाव होने लगा। लोगों को घरों में पानी घुसने का भय इस कदर भयभीत कर दिया है कि पूरे दिन और देर शाम तक स्थानीय लोग पुलिया एवं नाले की सफाई में जुटे रहे। लोगों ने बताया कि अतिक्रमण और जर्जर पुलिया पानी निकासी में परेशानी का सबब बना हुआ है। वहीं पानी के बहाव क्षेत्र में दो-दो टेलीफोन के खंभे को बिछा कर केबल पार किये जाने से सबसे ज्यादा परेशानी हो रही है। स्थानीय लोगों ने बीडीओ व सांसद समेत टाटा पावर से समस्या समाधान की मांग की है।

वही इस सर्दभ में एसडीओ प्रभात कुमार ने बताया कि खरखाई नदी का जलस्तर खतरे का निशान पार किया है। उन्होंने कहा कि स्वर्णरेखा नदी का जलस्तर अभी खतरा के निशान पार नहीं किया है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन के द्वारा नदी के निचले इलाको मे रहने वाले लोगों को देर रात से ही माईक पर सूचना दी जा रही थी। खऱखाई का जलस्तर बढने से बागबेड़ा और शास्त्रीनगर के रहने वाले लोगो को ज्यादा असर हुआ है। उनलोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है। और जिला प्रशासन पूरी स्थिति पर नजर रखे हुए है।

 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS