ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार: समस्तीपुर में एक लापता स्वर्ण व्यवसायी की हत्या, 14 मई से था लापताअश्विनी वैष्णव ने लेह में नाइलिट केंद्र का किया उद्घाटनकान फ़िल्म महोत्सव के रेड कार्पेट पर भारतीय प्रतिनिधिमंडल ने अपनी चमक बिखेरीगृह मंत्री अमित शाह ने असम के में तेज वर्षा से उपजी स्थिति पर चिंता व्‍यक्‍त कीडेफ्लंपिक्‍स खेलों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले भारतीय दल को प्रधानमंत्री मोदी ने दी बधाईथिएटर के बाद अब इस दिन ओटीटी पर आएगी शाहिद कपूर की फिल्म 'जर्सी'पश्चिम चंपारणः बगहा में 14 वर्षीया नाबालिग बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म का प्रयास, नाबालिग बच्ची को चलती गाड़ी के आगे फेंकाबिहार: सीवान में बेखौफ अपराधियों ने लूटपाट के बाद युवक को मारी गोली
झारखंड
आरएसएस प्रमुख ने जमशेदपुर में फहराया झंडा
By Deshwani | Publish Date: 26/1/2017 12:58:02 PM
आरएसएस प्रमुख ने जमशेदपुर में फहराया झंडा

जमशेदपुर, (हि.स)। 26 जनवरी और 15 अगस्त को झंडा फहराने और राष्ट्रगान गा लेने से इसकी सार्थकता सिद्ध नहीं होती। इसके लिए जरूरी है कि स्वतंत्रता के लिए कुर्बानी देने वाले सेना के मकसद को पूरा किया जाए। 

यह बातें आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने गुरुवार को शहर के गुजराती सनातन समाज में झंडा फहराते हुए कही। भागवत ने कहा कि भारत की स्वतंत्रता के बाद भारतीय विचारकों ने स्वतंत्र भारत आगे कैसे चलेगा, किस लिए चलेगा इसे ध्यान में रखते हुए एक संविधान का निर्माण किया। इसके तहत अपने आप को एक गणराज्य घोषित किया ताकि लोग इसे समझें और लोग एकजुट होकर देश को चला सकें। झंडे के केसरिया रंग की चर्चा करते हुए हुए उन्होंने कहा कि यह त्याग का प्रतीक है। विश्व में किसी देश का योगदान होने के लिए स्वतंत्र होकर प्रयास करना पड़ता है। स्वतंत्रता के लिए अनेक लोगों ने अपने आप को बलिदान कर दिया। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS