ब्रेकिंग न्यूज़
पूर्व केन्द्रीय कृषिमंत्री मोतिहारी सांसद लॉकडाउन में देशभर में फंसे सैकड़ो चंपारणवासियों को भोजन मुहैया करा रहे हैंलोगों के अनुरोध पर आपातकाल में प्रधानमंत्री नागरिक सहायता और राहत कोष - PM CARES की घोषणा, नोट करें खाता नम्बरहाइड्रो-ऑक्‍सी-क्‍लोरोक्विन कोविड- 19 में कारगर, आवश्‍यक दवा घोषित, बिक्री और वितरण नियंत्रित करने संबंधी स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की अधिसूचना जारीपूरे देश में 562 संक्रमित मामलों की पुष्टि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने की, 41 संक्रमित मरीज हुए स्वस्थईरान से एयरइंडिया के विशेष विमान से लाये गये 277 लोग आज सुबह पहुंचे जोधपुर हवाई अड्डाआज शाम प्रधानमंत्री अपने निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी के लोगों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए करेंगे बातचीतवित्‍त वर्ष 2018-19 के लिए आयकर रिटर्न फाइल करने की अंतिम तिथि 30 जून तक: वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारामनट्रेन के इंतजार में स्टेशन पर बैठे यात्रियों पर अंधाधुंध फायरिंग, चार लोगों को लगी गोली
अंतरराष्ट्रीय
श्रीलंका बम धमाकों में मृतकों की संख्या 290 हुई, इनमें 6 भारतीय; कोलंबो एयरपोर्ट के पास पाइप बम बरामद
By Deshwani | Publish Date: 22/4/2019 10:47:11 AM
श्रीलंका बम धमाकों में मृतकों की संख्या 290 हुई, इनमें 6 भारतीय; कोलंबो एयरपोर्ट के पास पाइप बम बरामद

कोलंबो। श्रीलंका में रविवार को चर्चों और होटलों में धमाके से मरने वालों की संख्या 290 पहुंच गई है। मृतकों में छह भारतीय समेत 33 विदेशी शामिल हैं। 500 से ज्यादा लोग जख्मी हुए हैं। पुलिस के मुताबिक, इस मामले में अब तक 24 संदिग्धाें को गिरफ्तार किया जा चुका है। रविवार देर रात को छानबीन के दौरान पुलिस को कोलंबो एयरपोर्ट के पास पाइप बम मिला। छह फीट लंबे इस बम को एयरफोर्स ने सफलतापूर्वक डिफ्यूज कर लिया। 

 
पुलिस सूत्रों के मुताबिक, एक देसी बम एयरपोर्ट टर्मिनल जाने वाली सड़क के किनारे मिला। यह कितना खतरनाक था इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसके पाइप में ऊपर तक बारूद भरा था। इन सभी को आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) को पूछताछ करने के लिए सौंप दिया गया है। हमले का शक तौहीद जमात ग्रुप पर है जो तमिलनाडु में सक्रिय है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित दुनिया के तमाम नेताओं ने इस हमले की कड़ी निंदा की है।
 
राजधानी कोलंबो में रविवार को करीब छह घंटे के दौरान किए गए आठ बम धमाकों में मरनेवालों की संख्या बढ़कर अब तक 290 हो चुकी है और 500 सौ लोग घायल हैं। मरनेवालों में करीब 30 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। साथ ही सीरियल बम धमाकों के बाद जो कर्फ्यू लगाया गया था, उसे आज  सुबह छह बजे हटा लिया गया।
 
 
उल्लेखनीय है कि अभी तक किसी आतंकी संगठन ने इन आत्मघाती हमलों की जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन मीडिया में नेशनल तौहीद जमात का नाम लिया जा रहा है। यह एक इस्लामिक चरमपंथी संगठन है और इसका एक धड़ा तमिलनाडु में भी सक्रिय है। उधर श्रीलंका में एक के बाद एक आठ धमाकों के बाद दिल्ली पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां हाई अलर्ट पर हैं। दिल्ली पुलिस की ओर से गिरजाघरों, सभी धार्मिक स्थलों और विदेशी नागरिकों के आवाजाही वाले इलाकों में अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS