झारखंड
हजारीबाग में रामनवमी का जुलूस उफान पर, 700 घायल
By Deshwani | Publish Date: 7/4/2017 3:05:18 PM
हजारीबाग में रामनवमी का जुलूस उफान पर, 700 घायल

 हजारीबाग। हजारीबाग की ख्याति प्राप्त तीन दिवसीय रामनवमी जुलूस उफान पर है।तीन दर्जन झांकियां परंपरागत सुभाष मार्ग से निकलकर अपने अपने अखाड़े में लौटने लगे हैं। अभी भी चार दर्जन से अधिक झांकियां शहर के परंपरागत मार्ग में मौजूद हैं। धीरे धीरे जुलूस को आगे बढाने का सिलसिला चल रहा है। 

आज सुभाष मार्ग स्थित मस्जिद में सुबह की नमाज के बाद 5.30 बजे जुलूस के गुजरने के लिए बैरिकेटिंग खोला गया।सबसे पहले हरिनगर मुहल्ले के अखाड़े द्वारा भव्य रुप में बनाए गए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी की झांकी सुभाष मार्ग में प्रवेश किया। इसके बाद जुलूस के परंपरागत मार्ग से गुजरने का सिलसिला शुरू हुआ। 
यह सिलसिला शाम तक जारी रहने की उम्मीद है।हालांकि दिन में दोपहर की नमाज एवं शाम के नमाज के लिए परंपरागत सुभाष मार्ग को बैरिकेटिंग कर जुलूस को जाने के लिए रोक दिया जाएगा। जुलूस को आगे बढाने के लिए प्रशासन के साथ महासमिति के अध्यक्ष व उनकी टीम से लेकर शांति समिति के लोग भी सक्रिय दिखे। जुलूस पर नजर रखने व सुरक्षा को लेकर डीसी रविशंकर शुक्ला एवं पुलिस अधीक्षक अनूप बिरथरे की टीम लगी हुई है।डीसी व एसपी परंपरागत सुभाष मार्ग के सामने बने मुख्य टावर से जुलूस पर नजर रखे हुए थे।डीआईजी भीमसेन टुटी ने भी घंटों बैठकर टावर से जुलूस पर नजर रखने का काम किया। 
ज्ञात हो कि हजारीबाग में महा दशवीं में रामनवमी का ख्याति प्राप्त रामनवमी जुलूस निकलता है।इस जुलूस में करीब 100 झांकियां शामिल होती हैं। इसमें एक दर्जन झांकियां जीवंत होती हैं।जीवंत झांकियों व भव्य झांकियों को देखने के लिए लोगों की भारी भीड़ देखी जा रही है। झांकियों में शामिल लोगों की सेवा के लिए विभिन्न संस्थाओं द्वारा स्टाल लगाया गया।अस्त्र शस्त्र परिचालन एवं आपसी झड़प में काफी लोग घायल हुए हैं। अनुमान के अनुसार करीब सात सौ लोग घायल हुए। इनमें से करीब दो सौ लोगों का इलाज स्थानीय सदर अस्पताल में किया गया। इनमें से तीन गंभीर रूप से घायल लोगों को रांची रेफर किया गया है। सदर अस्पताल के अलावा अन्य स्वयंसेवी संगठनों द्वारा लगाए गए स्टाल में इलाज किया गया।जुलूस में किसी भी गड़बड़ी से निबटने के लिए रैपिड एक्शन फोर्स के जवानों को भी लगाया गया है। रैफ के अलावा रैप, जैप, सैप, जिला पुलिस बल के जवानों को कार्यपालक दंडाधिकारी के साथ प्रतिनियुक्त किया गया है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS