ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जानबिहार में लॉकडाउन के पांचवें चरण की हुई घोषणा, 30 जून तक बढ़ा, कोरोना संक्रमण की संख्या 6,692 हुईजमात उल मुजाहिद्दीन का आतंकी अब्दुल करीम को कोलकता एसटीएफ ने पकड़ा, गया ब्लास्ट मामले में हो रही थी खोजमोतिहारी के झखिया में पुलिस ने घेराबंदी कर की कार्रवाई, शशि सहनी गिरफ्तार, 125 कार्टन अंग्रेजी शराब जब्तभोजपुरी सेंशेसन अक्षरा सिंह का नया गाना ‘कोरा में आजा छोरा’ रिलीज के साथ हुआ वायरल
बिहार
यहां होता है बुजुर्गियत का सम्मान, गणतंत्र दिवस पर वयोवृद्ध टीमन पासवान ने किया ध्वजारोहण
By Deshwani | Publish Date: 28/1/2018 7:45:05 PM
यहां होता है बुजुर्गियत का सम्मान, गणतंत्र दिवस पर वयोवृद्ध टीमन पासवान ने किया ध्वजारोहण

- पिछले छह साल से चली आ रही यह परंपरा, इस साल सभी को किया गया सम्मानित
- सराय थाना के दामोदरपुर गांव में गंगासागर सरोवर स्थल है सामाजिक, धार्मिक व सांस्कृतिक गतिविधियों का केंद्र

हाजीपुर। देशवाणी न्यूज नेटवर्क


सराय थानातंर्गत दामोदरपुर गांव में गंगासागर सरोवर किनारे स्वामी जगदीशानंद पुस्तकालय के प्रांगण में गणतंत्र दिवस के अवसर पर ध्वजारोहण गांव के वयोवृद्ध टीमन पासवान ने किया। इस दौरान सैकड़ों लोग मौजूद थे। बता दें कि अब से छह वर्ष पूर्व ग्रामीणों द्वारा तय किया गया िक इस स्थल पर प्रत्येक स्वतंत्रता दिवस व गणतंत्र दिवस के अवसर पर ध्वजारोहण गांव के सर्वाधिक बुजुर्ग व्यक्ति द्वारा किया जाएगा। इसके बाद से इस परंपरा का निर्वहन होता आ रहा है। इससे पहले सात बुजुर्ग द्वारा ध्वजारोहण किया जा चुका है। इस कार्यक्रम की विशेषता यह है कि इसके माध्यम से सामाजिक समरसता का उदाहरण ग्रामीणों द्वारा प्रस्तुत किया जाता है। खास बात यह है कि करीब तीन हजार की आबादी वाले इस गांव में सर्वाधिक जनसंख्या सवर्णों यानी राजपूत की है, फिर भी वरिष्ठतम आयु के हिसाब से जब दलित समाज के व्यक्ति का नंबर ध्वजारोहण का आता है तब सभी वर्गों की मौजूदगी में वे ससम्मान ध्वजारोहण करते हैं। इसके पूर्व 2014 व 2015 में नंदू पासवान द्वारा ध्वजारोहण किया जा चुका है और पुन: इस वर्ष वरिष्ठतम आयु के हिसाब से टीमन पासवान का नंबर आया और उनके द्वारा ध्वजारोहण कराया गया। इस वर्ष एक ओर परंपरा की शुरुआत की गई है कि पूर्व में जिन वरिष्ठ नागरिकों द्वारा ध्वजारोहण किया गया है, यदि वे जीवित हैं तो उन्हें इस अवसर पर सम्मानित किया जाएगा। इस क्रम में सीमाराम सिंह, राजनारायण सिंह, नंदू पासवान, चंद्रदेव सिंह व राजेश्वर प्रसाद सिंह को सम्मानित किया गया। बता दें कि यह स्थल सामाजिक, सांस्कृतिक व धार्मिक गतिविधियों का केन्द्र बन चुका है। वर्ष 2011 से ही यहां प्रत्येक मंगलवार को हनुमान आराधना का आयोजन िकया जाता आ रहा है। यदि गांव में भी कोई अप्रिय घटना हो जाती है, तब भी यह कार्यक्रम बंद नहीं होता है, बल्कि उसका रूप परिवर्तन हो जाता है। सिर्फ सुंदरकांड का पाठ करके यह कार्यक्रम संपन्न होता है। यहां प्रतिदिन श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का उत्सव भी छह दिनों तक चलता है एवं चैत्र शुक्ल प्रतिपदा विक्रम संवत पर नव वर्ष का उत्सव भी मनाया जाता है, जिसमें चैता संगीत का भी आयोजन िकया जाता है। यह सभी कार्यक्रम ग्रामीणों द्वारा मिल बैठकर बनाए गए संगठन ग्राम गौरव जागृति न्यास, दामोदरपुर द्वारा चलाया जाता है।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS