गोपालगंज
बलेसरा में शादी में आने वाले लोगों के स्वागत में ढोल नगाड़े बजते
By Deshwani | Publish Date: 8/2/2018 1:58:20 PM
बलेसरा में शादी में आने वाले लोगों के स्वागत में ढोल नगाड़े बजते

गोपालगंज । जिस प्रकार शादी विवाह में आने वाले लोगों के स्वागत में ढोल नगाड़े बजते है। उसी तरह बिहार के गोपालगंज जिला के बलेसरा पंचायत में आने वाले लोगों को ढोल नगाड़े से स्वागत किया जाता है। गांवों के लोगों में इस बात की खुशी है कि उनके घर में शौचालय बन गया और उनके घर की महिलायें अब शौच के लिए बाहर नहीं जायेंगी। उचकागांव प्रखंड का बलेसरा पंचायत प्रखंड का पहला खुले में शौच मुक्त और जिले का तीसवां पंचायत बन गया। गाजे बाजे के साथ गांव में आने वाले लोगों का स्वागत किया गया । बलेसरा गांव में शौच मुक्त गांव होने की खुशी में गांव को लोगों ने रंगोलियों से सजाया गया। इतना ही नहीं गाजे बाजे के साथ उद्घाटन करने पंहुचे जिलाधिकारी और विधायक को महादलितों की बस्ती की महिलाओं ने चन्दन लगाकर आरती की। महादलित डोम जाति की बस्ती में बड़े पैमाने पर बने शौचालय मिलने पर उनलोगों ने सकल्प लिया कि उनके परिवार के कोई भी सदस्य बाहर शौच के लिए नहीं जायेगा। इसको लेकर बालाहाता मध्य विद्यालय परिसर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान जिला पदाधिकारी राहुल कुमार ने दीप जलाकर लोगों को शौचालय सौपा। जिलाधिकारी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि यदि पंचायत के लोग लगातार तीन माह तक पंचायत को खुले में शौच मुक्त बनाए रखेंगे तो बलेसरा पंचायत को नल जल योजना का तोहफा दिया जाएगा। पंचायत के सभीवार्डो में नलजल और नाली गली के लिए राशि उपलब्ध करा दी जाएगी। इससे पंचायत एक विकसित पंचायत का रूप ले लेगी। लोगों को जमीन से तीन सौ फीट गहरा स्वच्छ पानी पीने के लिए प्रत्येक घर को उपलब्ध हो जाएगा। 

विधायक रामसेवक सिंह ने बलेसरा पंचायत को गृह पंचायत होने के नाते यहां के छात्र के लिए एक हाई स्कूल खुलवाने के लिए डीएम से आग्रह किया।इसे डीएम राहुल कुमार ने सहर्ष स्वीकार करते हुए पंचायत के किसी भी संसाधन उपलब्ध मध्य विद्यालय को हाई स्कूल में उत्क्रमित कराने का आश्वासन दिया। प्रमुख रामाशीष सिंह ने पंचायत को खुले में शौच मुक्त बनाने के लिए पंचायत के जनप्रतिनिधियों तथा आम जनता को धन्यवाद दिया। कार्यक्रम के दौरान जिला पदाधिकारी द्वारा पंचायत के सभी जनप्रतिनिधियों को मेडल और शाल देकर सम्मानित किया गया। जिलाधिकारी ने मुखिया को शील्ड देकर शौचमुक्त पंचायत बनाने को लेकर दिया। गांव के दुर्गा शर्मा ने अपने साथियों के साथ रंगोली बनाकर पंचायत और गांव में आने का स्वागत किया। उसे खुशी है कि अब उसके गांव कि महिलाएं शौच के लिए बाहर नहीं जायेगी।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS