ब्रेकिंग न्यूज़
कोविड-19 पाॅजिटिव मरीजों को हर हाल में मुहैया करायें मेडिसिन किट्स: डीएमबेतिया के गली-नाली पक्कीकरण योजनान्तर्गत पेवर ब्लाॅक का करें इस्तेमाल: जिलाधिकारीमोतिहारी डीएम ने कहा - कोविड-19 सैंपलिंग में प्रगति नहीं तो होगी कार्रवाई, अनुपस्थित लैब टेक्नीशियन व प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी का रुकेगा वेतनमोतिहारी के युवा चिकित्सक डॉ धीरज ने रविवार को भी बाढ़ पीड़ितों का हाल जाना, राहत सामग्री बांटी, सेनेटरी पैड व दवाएं भी वितरित किएपूर्णिया से चोरी के ट्रैक्टर को खरीदने ग्राहक बन गए थे दो पुलिस, मोतिहारी के चिरैया में टेलर सहित टैक्टर व कैश बरामद, एक गिरफ्तारलॉकडाउन उल्लंघन के मामले में मोतिहारी की दो दुकानों से 14 गिरफ्तार, मिली जमानत भीकोरोना वायरस की जांच के लिए दिल्ली में दूसरा सेरोलॉजिकल सर्वेक्षण आज से शुरू, 77% आबादी हो सकती है कोरोना वायरस से प्रभावितनेपाल के वीरगंज मे सांसद और मेयर सहित 64 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए
गोड‍्डा
बांध टूटने से 30 एकड़ में रवी फसल बर्बाद
By Deshwani | Publish Date: 8/1/2018 6:24:40 PM
बांध टूटने से 30 एकड़ में रवी फसल बर्बाद

गोड्डा (हि.स.)। जिले के मेहरमा प्रखंड अंतर्गत घोरीकित्ता गांव के पास बड़ी बांध की खुदाई के नाम पर जमा पानी को संवेदक द्वारा बहा देने से आस पास के दर्जनों किसानों के करीब तीस एकड़ जमीन में लगी रवी की फसल बर्बाद हो गयी है इस कारण किसानों में जिला प्रशासन और संवेदक के खिलाफ भारी आक्रोश देखा जा रहा है।

जानकारी के अनुसार किसान सदानंद तिवारी, गुड्डू तिवारी, अमित शुक्ला, बनवारी तांती, पवन यादव के फसलों को नुकसान हुआ है। पिड़ीत किसानों ने मामले को लेकर प्रशासन सहित सांसद निशिकांत दूबे को भी जानकारी दी है। मामले पर सांसद श्री दूबे ने बताया कि उपायुक्त को इस संबंध में जांच करने तथा दोषियों पर कार्रवाही करने को कहा गया है। बताया कि लघु सिंचाई विभाग से बांध की खुदाई होनी है। जिसका शिलान्यास बीते र्वा स्थानीय विधायक अशोक भगत द्वारा किया गया था। इस योजना की जानकारी के लिए योजना स्थल पर किसी प्रकार का बोर्ड नहीं लगाये जाने की भी सूचना है। अभिकर्ता द्वारा बिना किसानों को कोई पूर्व सूचना दिये ही बांध को काट कर उसमें जमा पानी को बहा दिया गया है। पानी से आसपास के खेंतो में लगे गेंहू और चना के फसल पूरी तरह बर्बाद हो गयी है। वहीं गांव के सपन तिवारी के खेत में लगे आम के पौधे पानी से बर्बाद हो गये है। लोगों ने इस संबंध में त्वरीत कार्रवाही एवं मुआवजा की मांग की है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS