ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जानबिहार में लॉकडाउन के पांचवें चरण की हुई घोषणा, 30 जून तक बढ़ा, कोरोना संक्रमण की संख्या 6,692 हुईजमात उल मुजाहिद्दीन का आतंकी अब्दुल करीम को कोलकता एसटीएफ ने पकड़ा, गया ब्लास्ट मामले में हो रही थी खोजमोतिहारी के झखिया में पुलिस ने घेराबंदी कर की कार्रवाई, शशि सहनी गिरफ्तार, 125 कार्टन अंग्रेजी शराब जब्तभोजपुरी सेंशेसन अक्षरा सिंह का नया गाना ‘कोरा में आजा छोरा’ रिलीज के साथ हुआ वायरल
झारखंड
हादसों का शहर बना गिरिडीह
By Deshwani | Publish Date: 10/5/2017 3:29:55 PM
हादसों का शहर बना गिरिडीह

गिरिडीह,  (हि.स.)। गिरिडीह शहर हादसों का शहर बन चुका है। बीते 120 दिनों में यहां 286 सड़क हादसे हो चुके हैं जिनमें 95 लाेगों की जान गयी है और 428 लोग घायल हुए हैं। ऐसा सड़क यातायात नियमों की अनदेखी करने और शराब पीकर गाड़ी चलाने जैसे कारणों से हुआ है। खास यह है कि इन हादसों के शिकार अस्सी फीसदी बाइक सवार हैं। बढ़ते सड़क हादसों को देखते हुए जिला पुलिस ने हाल के महीनों में हेलमेट पहनने के लिए लोगों को जागरूक करने का अभियान चलाया है और लाखों रुपये का जुर्माना वसूला है। यातायात विभाग की ओर से जारी किये गये आंकड़ों के अनुसार बीते तीन महीने यानी एक जनवरी से अप्रैल तक ये सड़क हादसे हुए हैं। इसे देखते हुए विभाग ने जागरूकता अभियान चलाने की पहल शुरू कर दी है। 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS