ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जानबिहार में लॉकडाउन के पांचवें चरण की हुई घोषणा, 30 जून तक बढ़ा, कोरोना संक्रमण की संख्या 6,692 हुईजमात उल मुजाहिद्दीन का आतंकी अब्दुल करीम को कोलकता एसटीएफ ने पकड़ा, गया ब्लास्ट मामले में हो रही थी खोजमोतिहारी के झखिया में पुलिस ने घेराबंदी कर की कार्रवाई, शशि सहनी गिरफ्तार, 125 कार्टन अंग्रेजी शराब जब्तभोजपुरी सेंशेसन अक्षरा सिंह का नया गाना ‘कोरा में आजा छोरा’ रिलीज के साथ हुआ वायरल
झारखंड
डीजे पर प्रतिबंध का सामाजिक कार्यकर्ताओं ने किया स्वागत
By Deshwani | Publish Date: 30/1/2017 3:16:00 PM
डीजे पर प्रतिबंध का सामाजिक कार्यकर्ताओं ने किया स्वागत

गिरिडीह, (हि.स.)। इलाके में डीजे पर प्रतिबंध का रेम्बा और आसपास के सामाजिक कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया है। इस संबंध में भारत स्वाभिमान न्यास किसान महासभा के जिला अध्यक्ष धनश्याम राम, सांसद प्रतिनिधि भोला नाथ द्विवेदी, कार्तिक मंडल, शंतशरण गुप्ता, रेम्बा की मुखिया ललिता देवी, अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ के जमुआ प्रखंड अध्यक्ष रामदेव महतो ने प्रशासन से प्रतिबंध तोड़ने वाले डीजे संचालकों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

गौरतलब है कि पिछले वर्ष सरस्वती पूजा विसर्जन के दौरान डीजे की आवाज से रेम्बा के पारा शिक्षक रघुनंदन राम की मौत हृदयाघात से हो गई थी। लोगों का कहना है कि डीजे ध्वनि प्रदूषण का सबसे बड़ा वाहक है और इसे धर्म से जोडना सर्वथा अनुचित है। इसीलिए इस पर जल्द से जल्द प्रतिबंध लगाया जाए । 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS