ब्रेकिंग न्यूज़
रेलवे में बंपर वैकेंसी, आरपीएफ के लिए 9 हजार से अधिक आवेदन मंगायेकल कर्नाटक की कमान संभालेंगे कुमारस्वामी, कांग्रेस के 22 और जेडीएस के 12 विधायक बनेंगे मंत्रीतमिलनाडु के हिंसक प्रदर्शन में 11 लोगों की मौत, राहुल ने बताया- सरकार समर्थित आतंकवादउपमुख्यमंत्री सुशील मोदी समेत इन दो मंत्रियों के खिलाफ कोर्ट से सम्मन जारीसुप्रीम कोर्ट ने भाजपा नेता को दिया बड़ा झटका, महिला पत्रकार टिप्पणी मामले में दिया गिरफ्तारी का आदेश50 लोगों ने जताई गीता से शादी की मंशा, जल्द होगा स्वंयवरतमिलनाडु में वेदांता यूनिट के खिलाफ प्रदर्शन हुआ हिंसक, 9 लोगों की मौतआर्कबिशप का खत- खतरे में देश की धर्मनिरपेक्षता, भड़की भाजपा
झारखंड
बूचड़खाने बंद होने से मांस के बाजार में सन्नाटा
By Deshwani | Publish Date: 4/4/2017 12:20:16 PM
बूचड़खाने बंद होने से मांस के बाजार में सन्नाटा

बूचड़खाने को बंद करने का असर दिख रहा बाजारों पर

चतरा, (हि.स.) । राज्य सरकार की ओर से अवैध रुप से संचालित बूचड़खाने को बंद करने का असर दिख रहा है। बूचड़खाने के बंद होने से मांस के बाजारों में सन्नाटा पसर गया है। सरकार के आदेश का प्रभाव केवल छोटे-बड़े शहरों में ही नहीं बल्कि गांवों तथा कस्बों में लगने वाले सप्ताहिक हाटों में भी देखने को मिल रहा है। शहर में लगने वाले साप्ताहिक बाजार में मांस तथा शराब बिकने वाले बाजार बिल्कुल सुनसान नजर आ रहे हैं। प्रशासन की चुस्ती से यह बंद सफल हो पाया । 

गौरतलब है कि प्रतापपुर में लगने वाला साप्ताहिक हाट दो भागों में बंटा हुआ है। एक तरफ साग सब्जी का लगने वाला दुकान होता है जबकि उसके कुछ ही दूरी पर मांस तथा शराब बिकने का बाजार रहता है। लेकिन अब बाजारों में सन्नाटा पसरा रह रहा है। इससे जुड़े व्यवसायियों का कहना है कि यह हमलोगों के जीविका का साधन था। लेकिन सरकार ने इस बंद करने का निर्णय लेकर हमलोगों की रोजगार को छिन लिया है। अब हमें जीविका के लिए दूसरा साधन देखना पड़ेगा।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS