छपरा
बिहार में हादसा : स्कूल वैन पर गिरा हाई वोल्टेज तार, दो बच्चों की मौत, 11 घायल
By Deshwani | Publish Date: 16/5/2018 5:09:53 PM
बिहार में हादसा : स्कूल वैन पर गिरा हाई वोल्टेज तार, दो बच्चों की मौत, 11 घायल

छपरा। बिहार में छपरा के बनियापुर में स्कूली वाहन के हाई वोल्टेज विद्युत तार की चपेट में आने से दो स्कूली छात्र-छात्रा की झुलस कर मौत घटना स्थल पर ही हो गयी। वहीं, स्कूल संचालक जो स्वयं स्कूली वाहन चला रहा था, वह भी झुलस कर गंभीर रूप से घायल हो गया। जिसे इलाज के लिए स्थानीय रेफरल अस्पताल लाया गया। जहां स्थिति की गंभीरता को देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद सदर अस्पताल छपरा भेज दिया गया। 

 

घटना सहाजितपुर थाना क्षेत्र के बंगालीपट्टी नहर मार्ग की है. स्कूली वाहन थाना क्षेत्र के धोबवल बाजार पर संचालित मिशन ऑफ प्राइड इन एजुकेशन स्कूल की है। मृतक सात वर्षीय छात्र सहाजितपुर थाना क्षेत्र के छितैनी निवासी जयकिशोर सिंह का इकलौता पुत्र रौनक कुमार है। वहीं, मृत छात्रा कामता गांव निवासी श्रीभगवान दास की सात वर्षीय पुत्री आदिति कुमारी है। गंभीर रूप से घायल स्कूल संचालक व वाहन चालक थाना क्षेत्र के कमता निवासी 40 वर्षीय उमेश गिरि है। 

 

घटना की सूचना पर स्थानीय विधायक केदारनाथ सिंह, सदर एसडीपीओ अजय कुमार, मढ़ौरा एसडीओ, सहाजितपुर थानाध्यक्ष रामविनय पासवान, बनियापुर थानाध्यक्ष मुन्ना कुमार, ईश्वापुर एवं गौरा थानाध्यक्ष घटना स्थल पर पहुंच आवश्यक कार्रवाई में जुटे। समाचार प्रेषण तक शव घटना स्थल पर ही था। 

 

घटना के संबंध में स्थानीय लोगों ने बताया कि छुट्टी के बाद स्कूली वाहन बंगालीपट्टी नहर मार्ग से स्कूली बच्चों को उनके घर छोड़ने जा रही थी। स्कूली वाहन जैसे ही बंगालीपट्टी गांव मे प्रवेश करने को मुड़ी, वैसे ही 11 हजार वोल्ट का तार टूट स्कूली वाहन पर गिरी और वाहन से आग की लपटे उठने लगी। 

 

सूचना पर भारी संख्या मे आस-पास के लोग घटना स्थल पर पहुंचे। मगर आग की विकराल रूप देख उपस्थित लोगों को आग पर काबू पाने का कोई उपाय नही दिख रहा था। गनीमत रही की इसी बीच विद्युत विच्छेद होने से आग की ज्वलनता कम हुई एवं उपस्थित लोगों ने काफी प्रयास के बाद जल रहे वाहन के आग पर काबू पा वाहन के अंदर फंसे स्कूली छात्रों को बाहर निकाला। वाहन में लगभग 12 छात्र-छात्रा सवार थे। जिसमें दो की मौत घटना स्थल पर हो गयी थी। शेष बच्चे आंशिक रूप से जख्मी थे। सूचना पर जख्मी छात्रों के अभिभावक पहुंच अपने-अपने बच्चों को इलाज के लिए निजी चिकित्सालय ले गये। जहां सभी बच्चे खतरे से बाहर बताये गये है।

 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS