ब्रेकिंग न्यूज़
अत्याधुनिक हथियार बरामदगी मामले में कोटवा निवासी कुख्यात कुणाल को आजीवन कारावास, 42 हजार रुपये का अर्थदंड भी मिलाइस बार का चुनाव मेरे लिए चुनाव है चुनौती नहीं: राधा मोहन सिंहMotihati: सांसद राधामोहन सिंह ने नामांकन दाखिल किया, कहा-मैं तो मोदी के मंदिर का पुजारीमोतिहारी के केसरिया से दो गिरफ्तार, लोकलमेड कट्टा व कारतूस जब्तभारतीय तट रक्षक जहाज समुद्र पहरेदार ब्रुनेई के मुआरा बंदरगाह पर पहुंचामोतिहारी निवासी तीन लाख के इनामी राहुल को दिल्ली स्पेशल ब्रांच की पुलिस ने मुठभेड़ करके दबोचापूर्व केन्द्रीय कृषि कल्याणमंत्री राधामोहन सिंह का बीजेपी से पूर्वी चम्पारण से टिकट कंफर्मपूर्व केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री सांसद राधामोहन सिंह विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे
छपरा
नहरों में नहीं है पानी, रबी फसल की सिंचाई बाधित
By Deshwani | Publish Date: 1/2/2018 11:56:24 AM
नहरों में नहीं है पानी, रबी फसल की सिंचाई बाधित

छपरा, (हि.स.)। जिले के विभिन्न गांवों से होकर गुजरने वाली नहरों में पानी का नामो निशान नहीं है। इससे रबी फसल की सिंचाई करना गंभीर समस्या बन गई है। फसल को सूखे से बचाना किसानों के लिए गंभीर चुनौती बनी हुई है। 
 
जिले के सभी नहरें सरकारी स्तर से आरसीसी तो करा दी गई है और इस कार्य को कराने में करोड़ो रुपये खर्च किए गए लेकिन इसमें पानी के लिए किसान आज भी तरस रहे हैं। नहरों में कई वर्षों से एक बूंद भी पानी नहीं आया है। रबी की फसल को बचाने के लिए किसान हताश हैं। उन्हें चिंता सता रही है कि रबी की फसलें सुख न जाएं।
 
किसानों का कहना है जनप्रतिनिधियों तथा अधिकारियों की लापरवाही के कारण वर्षों से नहर में पानी नहीं आया है जिसके कारण मंहगे दर से निजी पंप से सिंचाई करना पड़ता है। 150 रुपये प्रति घंटा देकर किसान मजबूरी में निजी पंप सेटों के सहारे सिंचाई कर रहे हैं। इस दिशा में गंडक परियोजना अपने लक्ष्य से काफी पीछे है। किसानों को नहर में पानी की सुविधा नही होने के कारण आर्थिक शोषण का शिकार होना पड़ रहा है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS