ब्रेकिंग न्यूज़
नेपाल से वतन लौट रहे करीब 400 भारतीय को बीरगंज प्रशासन ने रोका, डिटेंशन सेन्टर में खाने-पीने की व्यवस्था नहीं, कर रहे भारत बुलाने की अपीलउत्तर बिहार के ख्यातिप्राप्त सर्जन डॉ. आशुतोष शरण ने PM Cares Fund व CM Releaf Fund को दी कुल 2 लाख 50 हजार की आर्थिक सहायता, पूरी की दिली ख्वाहिशपूर्व केन्द्रीय कृषिमंत्री मोतिहारी सांसद लॉकडाउन में देशभर में फंसे सैकड़ो चंपारणवासियों को भोजन मुहैया करा रहे हैंलोगों के अनुरोध पर आपातकाल में प्रधानमंत्री नागरिक सहायता और राहत कोष - PM CARES की घोषणा, नोट करें खाता नम्बरहाइड्रो-ऑक्‍सी-क्‍लोरोक्विन कोविड- 19 में कारगर, आवश्‍यक दवा घोषित, बिक्री और वितरण नियंत्रित करने संबंधी स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की अधिसूचना जारीपूरे देश में 562 संक्रमित मामलों की पुष्टि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने की, 41 संक्रमित मरीज हुए स्वस्थईरान से एयरइंडिया के विशेष विमान से लाये गये 277 लोग आज सुबह पहुंचे जोधपुर हवाई अड्डाआज शाम प्रधानमंत्री अपने निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी के लोगों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए करेंगे बातचीत
छपरा
बिना मुआवजा दिए फसल काटने से किसान हुए नाराज
By Deshwani | Publish Date: 29/1/2018 12:27:06 PM
बिना मुआवजा दिए फसल काटने से किसान हुए नाराज

छपरा (हि.स.)। सारण जिले के एकमा प्रखंड के रसूलपुर थाना क्षेत्र के कई किसानों ने रविवार को क्षेत्र से होकर डीजल पाइप लाइन लगा रही आइओसीएल के कार्मिकों का घेराव कर अपनी लहलहाती फसलों को तैयार होने तक काम रोकने की मांग की है। सूचना पाकर साइट पर पहुंची रसूलपुर पुलिस कम्पनी के कर्मचारियों को किसानों को मुआवजा देकर काम करने का सलाह दी। पुलिस ने किसानों को भरपुर मदद करने का आश्वासन दिया।
पीड़ित किसान सुरेन्द्र भास्कर, राकेश ठाकुर, बलिराम महतो, शशिभूषण त्रिपाठी, शम्भू प्रसाद, रामअवतार मांझी, बंगाली राम, जवाहरलाल मांझी, ब्रजेश कुशवाहा आदि ने बताया कि उनके लहलहाते गेंहू, दलहन, तेलहन आदि फसलों को कम्पनी के कर्मी काट रहे हैं। इसके लिए किसानों ने उनसे मुआवजे के भुगतान के लिए करेन्ट रसीद की मांग की है पर कर्मचारी लापरवाही कर रहे हैं।
कम्पनी के कॉन्टैक्टर जेके श्रीवास्तव ने बताया कि किसानों को दो साल पहले ही सर्वे करा कर छह महीने पहले काम करने की सूचना दे दी गई थी, फिर भी किसानों ने सर्वे वाली जमीन पर फसल लगा दी। जहां तक मुआवजा के भुगतान की बात है तो उसकी प्रक्रिया चल रही है, जल्द ही किसानों को कागजी प्रकिया पूरा कर भुगतान कर दिया जाएगा।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS