ब्रेकिंग न्यूज़
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने नागालैंड में मोन मेडिकल कॉलेज की आधारशिला रखीराष्ट्रपति ने गुरु रविदास जयंती की पूर्व संध्या पर देशवासियों को शुभकामनाएं दींनई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में खेलों को एक गौरवपूर्ण स्थान दिया गया है : प्रधानमंत्रीसीतामढ़ी के मेजरगंज में शहीद हुए सब इंस्पेक्टर दिनेश राम का मोतिहारी के बरनावाघाट पर राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कारकोई भी सरकार किसानों को नुकसान पहुंचाने वाले कानून बनाने की हिमाकत नहीं कर सकती- श्री तोमरपुद्दुचेरी में प्रधानमंत्री ने कई विकास परियोजनाओं की शुरूआत कीसमस्तीपुर: एक मार्च से कोविड-19 टीकाकरण के तीसरे फेज की होगी शुरुआतमोतिहारी के कई पुलिस पदाधिकारी इधर से उधर, छतौनी के नये एसएचओ विजय प्रसाद राय व नगर थानाध्यक्ष बने विजय प्रसाद राय,जबकि मधुबन एसएचओ पर हुई कार्यवाई
बक्सर
जेल में समस्या है तो आवेदन दे सकते हैं कैदी
By Deshwani | Publish Date: 10/10/2017 2:44:22 PM
जेल में समस्या है तो आवेदन दे सकते हैं कैदी

बक्सर, (हि.स.)। सूबे का पहला ओपन जेल का उद्देश्य पुरी तरह सार्थक है। कैदियों को परिवार के साथ रहने की छूट जेल की घुटन भरी जिन्दगी से मुक्त दस किलोमीटर के दायरे में काम करने की छूट आदि कुछ ऐसे ही संकल्पना को लेकर शुरुआत हुई। इसके सार्थक होने का प्रमाण यह है कि यहां से कैदी भागना भी चाहे तो साथी कैदी ही इसका विरोध करते हैं। जहां इस संकल्पना को और मजबूती देने के उद्देश्य से ओपन जेल में कैदियों के समस्या के समाधान के लिए लीगल एंड क्लिनिक का संचालन किया गया। इसके तहत जिला विधिक सेवा प्रधिकार का पैनल ओपन जेल के कैदियों के समस्या के निवारण के लिए उपस्थित था। 
बीते सोमवार ओपन जेल के सभा कक्ष में इस बाबत कैदियों को संबोधित करते हुए प्रभारी सहायक अधीक्षक प्रमोद कुमार ने कहा की कैदियों को अगर कोई समस्या है तो वे आवेदन करें। जिसे सम्बंधित विभाग को भेज दिया जाएगा। उन्होंने कहा की सरकार ने कैदियों की समस्याओं के समाधान के लिए कई रास्ते निर्देशित किए हैं। ऐसे में उन्हें निराश होने की जरूरत नहीं है। इस के अलावा पैनल ने उपस्थित कैदियों को कई जानकारियां दी। पैनल ने कहा की असमय रिहाई के लिए या उनमें आने वाली समस्या को लेकर भी कैदी पैनल के पास जा सकते हैं।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS